Connect with us

उत्तराखण्ड

सूखे की मार से परेशान पहाड़ के किसान, आलू, मटर, की फसलें चौपट, सरकार से लगाई मदद की गुहार….

संवाददाता – शंकर फुलारा

रामगढ़। पिछले अक्टूबर से बारिश न होने से पहाड़ भयंकर सूखे की चपेट में है। गेहूं, मसूर, लाई तो जमे ही नहीं।सब्जी, फल पट्टी रामगढ़, धारी में मटर, आलू की जो फसल जनवरी /फरवरी में बोई जाती है।

इस बार जमीन में नमी नहीं होने के कारण जमीं ही नहीं, पूरी फसल बर्बाद हो चुकी है। फलदार वृक्षों पर फूल भी गर्मी की बजह से जल्दी फूल आ गये। नमी नहीं होने के कारण उस पर दाना कैसे बढेगा, कई पेड़ अब सूखने के कगार पर हैं।

जिन लोगों ने नये फलदार पेड़ लगाये हैं वो शायद ही जीवित रह पायेंगेव जमीन पूरी तरह सूख चुकी है। विषम भौगोलिक परिस्थिति वाले पहाड़ में पेयजल की पहले ही थी अब कई जलश्रोत दम तोड़ रहे हैं बडा़ संकट पेयजल का हो चुका है100 प्रतिशत सूखा हो चुका है।

सरकार को इस पर गहन सर्वे/जल्द किसान को मदद करनी चाहिए इस पर आश्रित किसान के लिए जीवन यापन का बडा़ संकट आ चुका है आढती /बनियों से किसान बीज लेता है अब फसल उगी ही नहीं तो उसका ॠिण कैसे चुकायेगा।

रामगढ़, हरतोला के किसान तारा दत्त तिवारी ने सरकार से नैनीताल जिले के रामगढ़, धारी, बेतालघाट, ओखलकांडा के किसानों की समस्याओं को देखते हुए मदद की गुहार लगाई है।

यह भी पढ़ें -  अल्मोडा अर्बन कोआपरेटिव बैंक की 58वीं शाखा का हुआशुभारम्भ

More in उत्तराखण्ड

Trending News