केंद्र सरकार के खिलाफ 4 सितम्बर को दिल्ली में होगा बड़ा प्रदर्शन : रावत

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी। मंगलवार को उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत हल्द्वानी पहुंचे,यहां पहुँचने के बाद उन्होंने कहा कि महंगाई और भ्रष्टाचार के खिलाफ आगामी 4 सितंबर को कांग्रेस केंद्र सरकार के खिलाफ दिल्ली में एक बड़ा प्रदर्शन करने जा रही है, जिसमें देश भर के लाखों कांग्रेस कार्यकर्ता एकजुट होकर दिल्ली में केंद्र सरकार के खिलाफ हल्ला बोल करेंगे।
स्वराज आश्रम में पत्रकारों से बातचीत करते हुए श्री रावत ने कहा कि उत्तराखंड से भी लगभग 15 हजार कांग्रेस कार्यकर्ता दिल्ली प्रदर्शन में भाग लेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि जल्द ही राहुल गांधी के नेतृत्व में कन्याकुमारी से लेकर कश्मीर तक भारत जोड़ो यात्रा निकाली जाएगी जिसकी सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। उन्होंने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में बीजेपी सरकार को निष्पक्ष जांच नहीं कर पायेगी। हाकम सिंह जैसा आरोपी उत्तराखंड की संस्कृति के लिए खास पहचान बन चुका है।

उन्होंने कहा जनता को ऐसा लग रहा है कि उत्तराखंड की सरकार एसटीएफ को निष्पक्ष रूप से जांच नहीं करने देगी। ऐसे में मामले की जांच सीबीआई को सौंप दी जानी चाहिए या फिर हाई कोर्ट की सिटिंग जज की एक बेंच एसआईटी का गठन कर इस मामले की निष्पक्ष जांच करे। उन्होंने कहा इस मामले में जब तक अंतिम व्यक्ति तक गिरफ्तार नहीं हो जाता तब तक इसकी जांच होनी जरूरी है। पूर्व मुख्यमंत्री रावत ने धामी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा उत्तराखंड में हो रही अग्नि वीरों की भर्ती, अग्निवीर योजना के नाम से प्राइवेट आर्मी के लिए रिक्रूट तैयार किए जा रहे हैं, आखिर अग्निवीर योजना हमारी सेना का विकल्प कैसे हो सकती है।

यह भी पढ़ें -  समान नागरिक संहिता में प्रावधान के लिए नैनीताल के लोगों ने समिति के समक्ष रखी अपनी राय

श्री रावत ने कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज को बधाई देते हुए कहा कि उन्होंने अग्निवीर योजना की भर्ती पर खुद ही सवाल उठाने शुरू कर दिए हैं, महाराज असली बधाई की पात्र होंगे जब खुद सतपाल महाराज कहेंगे कि अग्नि योजना वास्तव में बिल्कुल बेकार है। पत्रकार वार्ता के दौरान विधायक सुमित हृदयेश, पूर्व कैबिनेट मंत्री हरीश चंद्र दुर्गापाल, पूर्व विधायक संजीव आर्य, प्रदेश महामंत्री महेश शर्मा, वरिष्ठ कांग्रेस नेता खजान पांडे आदि कई कार्यकर्ता मौजूद थे।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.