723 परिवारों को दिया जाएगा डेढ़ लाख का मुआवजा

ख़बर शेयर करें

जोशीमठ। बदरीनाथ, हेमकुंड साहिब का गेटवे कही जाने वाली आदि शंकराचार्य की तपस्थली जोशीमठ की भूमि लगातार धंस रही है। अब तक दरार वाले भवनों की संख्या 723 पहुंच गई है। इनमें से 86 भवनों को पूरी तरह से असुरक्षित घोषित कर लाल निशान लगा दिए गए हैं।

आज इन भवनों को ढहाने की कार्रवाई शुरू होगी।प्रभावित 723 परिवारों को डेढ़ लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा। यह अंतरिम सहायता के रूप मे प्रत्येक परिवार को दिया जाएगा। इसके अलावा दो होटल को ही डिसमेंटल किया जाएगा। ऐसे में अब अन्य मकानों को नहीं ढहाया जाएगा। प्रशासन के साथ बैठक का दौर जारी है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
Ad
Ad
यह भी पढ़ें -  यहां देर रात एक वाहन खाई मे गिरा , SDRF ने चलाया रेस्क्यू अभियान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *