चीनी मिल परिसर से 8200 कुंतल शीरा गायब, मामले में बैठी जांच

ख़बर शेयर करें

उधम सिंह नगर। सितारगंज क्षेत्र से एक बड़ी खबर सामने आ रही है यहां खाली पड़ी चीनी मिल परिसर में रखा 8200 कुंतल शीरा गायब हो गया है। अफसर कह रहे हैं कि हजारों कुंतल शीरा लीकेज के कारण बह गया है। झाड़ियां होने से लीकेज नजर नहीं आई। मामला गड़बड़ नजर आने पर बैठी जांच।

प्राप्त जानकारी के अनुसार किच्छा चीनी मिल से निकला 82 सौ कुंतल शीरा, खाली पड़ी सितारगंज चीनी मिल में रखवाया गया। इसके बाद दोबारा इस शीरे की सुध लेने की जरूरत नहीं समझी गई। पिछले दिनों जब शीरे का हिसाब किताब हुआ,तो करीब 50 लाख रुपये से अधिक का हेरफेर नजर आया। पड़ताल की तो पता चला कि सितारगंज मिल में रखे शीरे का कोई हिसाब-किताब नहीं है। इस मामले में चीनी विभाग गड़बड़ी और लापरवाही के लिए आबकारी विभाग को जिम्मेदार ठहरा रहा है।

चीनी विभाग का तर्क है कि चीनी मिल में शीरे की देखरेख का जिम्मा आबकारी विभाग का होता है। उत्तराखंड शुगर्स के एमडी उदयराज ने कहा कि शीरा गायब होने की पड़ताल कराई जा रही है। शीरा लीकेज के कारण बहा या गायब किया गया, इसकी रिपोर्ट मांगी है। सभी जिम्मेदार लोगों का जवाब तलब किया जा रहा है। आबकारी विभाग से भी रिपोर्ट मांगी है। जो भी जिम्मेदार होगा, उस पर कार्रवाई की जाएगी।

वहीं आबकारी विभाग के सचिव हरीश चंद्र सेमवाल ने कहा कि चीनी विभाग ने बताया है कि शीरा बह गया है। वो इसके लिए लीकेज को वजह बता रहे हैं। इसके बावजूद आबकारी विभाग के अफसरों से भी रिपोर्ट मंगाई जा रही है ताकि असल कारण पता चल सके।