विभिन्न मांगों को लेकर कूटा ने सीएम को दिया ज्ञापन

ख़बर शेयर करें

नैनीताल। कुमाऊँ विश्वविद्यालय शिक्षक संघ नैनीताल (कूटा) ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिहं धामी से उनके रामगढ दौरे के दौरान मिलकर विश्वविद्यालय के प्राध्यापकों की विभिन्न समस्याओं के निराकरण के लिए ज्ञापन दिया ।

कूटा ने सबसे पहले पुष्प माला पहनाकर मुख्यमंत्री का स्वागत किया, तद्पश्चात ने कहा कि विश्वविद्यालय तथा महाविद्यालयों में संविदा तथा अतिथि व्याख्याता वर्षों से कार्यरत हैं । इनमें से कई संविदा प्राध्यापक विगत 5 से 15 वर्षों से कार्यरत है । उच्च शिक्षा में कार्यरत सभी संविदा/अतिथि प्राध्यापकों को नियमित अथवा तदर्थ नियुक्ति प्रदान करने की मांग रखी।

उन्होंने कहा हरियाणा के कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय द्वारा संविदा/अतिथि प्राध्यापकों का वेतन 57700/ प्रतिमाह किया गया है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने इनका वेतन न्यूनतम 50,000/ प्रतिमाह नियत किया है, जबकि वर्तमान में इन्हें 35,000/25,000 प्रतिमाह क्रमशः प्रदान किये जा रहें हैं। इन संविदा/ अतिथि व्याख्याताओं का वेतन 57700/ प्रतिमाह करने सम्बन्धी केबिनैट निर्णय करवाने की मांग की गई।

ज्ञापन में राजकीय महाविद्यालयों की भांति कुमाऊँ विश्वविद्यालय,नैनीताल के शोधार्थियोें तथा विद्यार्थियों को लैपटाप/टैबलेट प्रदान करने के लिए भी कूटा ने मांग की। कुमाऊँ विश्वविद्यालय,नैनीताल को इन्फ्रास्ट्राक्चर/ आवास हेतु 10 करोड रूपयें की धनराशि देने तथा कुमाऊँ विश्वविद्यालय का एक परिसर हल्द्वानी/खटीमा/रूद्रपुर में किसी एक स्थान पर स्थापित करने तथा भीमताल परिसर को पूर्ण परिसर का दर्जा प्रदान करने के लिए निवेदन किया । कुमाऊँ विश्वविद्यालय शिक्षक संघ नैनीताल (कूटा) की तरफ से प्रो0ललित तिवारी अध्यक्ष तथा डाॅ0विजय कुमार कोषाध्यक्ष ने मुख्यमंत्री से रामगढ में मुलाकात कर ज्ञापन दिया।

Ad
Ad
Ad
Ad
यह भी पढ़ें -  मुख्यमंत्री ने चंपावत में पत्रकारों को दिलाई शपथ

Leave a Reply

Your email address will not be published.