दरोगा भर्ती मामले में मिले कई सबूत, हो सकती गिरफ्तारियां

ख़बर शेयर करें

देहरादून। उत्तराखंड के बहुचर्चित दरोगा भर्ती मामले में बड़ा अपडेट आ रहा है। मामले में विजिलेंस ने बड़ा खुलासा किया है। बताया जा रहा है कि पंतनगर विवि में ओएमआर शीट साजिश के तहत जलाई गई। मामले में कई गिरफ्तारियां होने की उम्मीद बताई जा रही है।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार पंतनगर विश्वविद्यालय में ओएमआर शीट नियमों के तहत नष्ट नहीं की गई थी बल्कि उन्हें साजिश के तहत जलाया गया। क्योंकि, इससे पहले की सभी परीक्षाओं की ओएमआर शीट विवि में मौजूद हैं। बताया जा रहा है कि मामले में इस संबंध में पिछले दिनों अधिकारियों से पूछताछ की गई थी। जल्द ही विजिलेंस ओएमआर शीट जलाने के जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई करेगी।

बताया जा रहा है कि वर्ष 2015 में हुई दरोगा की सीधी भर्ती में धांधली का पता स्नातक स्तरीय परीक्षा की जांच के दौरान लगा था। सामने आया था कि कुल भर्ती 339 दरोगाओं में से कम से कम 10 फीसदी दरोगा ओएमआर शीटों में गड़बड़ी कर भर्ती हुए हैं। इस मामले में कुल 12 आरोपियों में से पांच दूसरे मुकदमों में जेल में बंद हैं। फिलहाल मुकदमे की जांच में पूछताछ की जा रही है।