Connect with us

उत्तराखण्ड

मलबा आने से बदरीनाथ यमुनोत्री हाइवे बंद, जोशीमठ में घर छोड़कर रात में ही भागे लोग

कल से लगातार हो रही बारिश से राज्यभार में कई सड़कें बंद हो गई है। बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पागल नाला में भारी मात्रा में मालबा आने के कारण अवरुद्ध हो गया है। बदरीनाथ धाम जाने वाले यात्रा वाहनों को पीपलकोटी, पाखी, तांगनी में रोका गया है।हाईवे से मलबा हटाने का काम जारी है। वहीं यमुनोत्री हाईवे ओजरी डाबरकोट के पास मलबा आने से बंद है। यहां दोनों ओर से दर्जनो वाहन फंसे हुए हैं।जोशीमठ में भारी बारिश के चलते पगनो गांव में एक बार फिर से गांव के ऊपर से मलबा और पानी आने से लोग दहशत में है। पिछले वर्ष से गांव के ऊपर से लगातार भूस्खलन हो रहा है। यहां 11 सरकारी व निजी भवन ध्वस्त हो गए थे। कल देर रात को भारी बारिश के चलते लोग घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों की ओर भागे। यहां गांव में 53 परिवार खतरे की जद में है।दूसरी तरफ श्रीनगर में अलकनंदा का जल स्तर बढ़ने से घाटों तक पानी पहुंच गया है। हालांकि जल स्तर खतरे के निशान से काफी नीचे है, लेकिन घाटों के डूबने से लोगों को शव दाह आदि के लिए दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं।दूसरी तरफ श्रीनगर में अलकनंदा का जल स्तर बढ़ने से घाटों तक पानी पहुंच गया है। हालांकि जल स्तर खतरे के निशान से काफी नीचे है, लेकिन घाटों के डूबने से लोगों को शव दाह आदि के लिए दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं। पर्वतीय क्षेत्र में हो रही लगातार बारिश के कारण मलबा आने से लोनिवि लैंसडौन की दो और लोनिवि दुगड्डा की चार सड़कें बंद हो गईं। सड़कें बंद होने से दर्जनों गांवों का सड़क संपर्क कट गया है। ग्रामीण मीलों पैदल आवाजाही कर गतंव्य तक पहुंच रहे हैं। लोनिवि की तरफ से जेसीबी मशीनें लगाकर बंद मोटर मार्गों को खोलने के प्रयास किए जा रहे हैं। लेकिन लगातार हो रही बारिश से सड़क खोलने में मशक्कत करनी पड़ रही है। मलबा आने से प्रांतीय खंड लोनिवि लैंसडौन के अंतर्गत कोटडीसैंण-पैयागढ़ी-रजबौ मल्ला-दियोड़ मोटर मार्ग और गुडलखेत-मनीगांव मोटर मार्ग आवाजाही प्रभावित रही।Uttarakhand: इसी साल लागू होगी योजना एकल महिला स्वरोजगार योजना, 18 से 50 आयुसीमा की गई है निर्धारित वहीं, निर्माण खंड लोनिवि दुगड्डा के अंतर्गत हनुमंती-उफरैखाल-गुडाखिला मोटर मार्ग, रथुवाढाब-झर्त-दियोड मोटर मार्ग, मठाली मोटर मार्ग, पौखाल-दूणी-मांडई मोटर मार्ग पर मलबा आने से आवाजाही बाधित रही।

यह भी पढ़ें -  माँ पूर्णागिरि धाम में मुख्य सीढ़ियों पर आया मलवा, मलवा हटाए जाने तक मंदिर किया गया बंद

More in उत्तराखण्ड

Trending News