विकासखंड द्वाराहाट में बीडीसी बैठक आहूत

ख़बर शेयर करें

रानीखेत (संवाददाता )। क्षेत्र पंचायत द्वाराहाट की बैठक गुरूवार को खण्ड विकास कार्यालय के सभागार में ब्लॉक प्रमुख दीपक किरौला की अध्यक्षता में आयोजित की गयी। इस बैठक में मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक मदन सिंह बिष्ट रहे। इस बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अल्मोड़ा के साथ डीडीओ अल्मोड़ा सहित ग्राम प्रधान, क्षेत्र पंचायत सदस्यों व जिला पंचायत सदस्यों व विभागीय अधिकारियों के साथ द्वाराहाट तहसील के उपजिलाधिकारी, नायब तहसीलदार द्वारा प्रतिभाग किया गया। बैठक में उद्यान, कृषि, जल संस्थान, जल निगम, सिंचाई, विद्युत, लोनिवि, पीएमजीएसवाई, एनएच, स्वास्थ्य, शिक्षा एवं अन्य विभागीय योजनाओं की जानकारी एवं जनप्रतिनिधियों द्वारा अपने-अपने क्षेत्रों की जन समस्याओं को सदन के सम्मुख रखा।

बैठक में उद्यान विभाग की समीक्षा के दौरान दूनागिरी गार्डन को विकसित किये जाने की बात सदन में रखी। जनप्रतिनिधियों ने कहा कि गार्डन के विकसित हो जाने से आसपास के किसानों को इसका लाभ मिल सकेगा। जनप्रतिनिधियों द्वारा विकासखण्ड के सभी न्याय पंचायत क्षेत्रों में बीज की उपलब्धता बनाये रखने व क्षेत्रफल के मानकों के हिसाब से बीज वितरण किये जाने की मॉग सदन में रखी। कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान सभी कृषि केन्द्रों में रोस्टर के माध्यम से बीज वितरण किये जाने की बात रखी। इस दौरान कृषि यन्त्रों का वितरण नहीं होने की शिकायत भी सदस्यों द्वारा रखी गयी। पीएम किसान योजना के तहत केवाईसी अपडेट में आ रही दिक्कतों से भी विभागीय अधिकारियों को अवगत कराया गया।जनप्रतिनिधियों ने कहा कि सचल दल वाहन के माध्यम से क्षेत्र में रोस्टर के माध्यम से बीज व कृषि यंत्र वितरित किये जाय।

बैठक में सबसे अधिक जनप्रतिनिधि जल निगम, जल संस्थान के साथ-साथ सिंचाई विभाग के ऊपर जमकर बिफरे। जल निगम की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान उठाते हुवे जनप्रतिनिधियों ने कहा कि किस प्रकार आधे इंच के पाईप से 20 से अधिक संयोजन किए जा रहे हैं। इसका जवाब जल निगम के अधिकारियों को इस बैठक में देने चाहिए। जल निगम और जल संस्थान की समीक्षा के दौरान छानागोलू पेयजल योजना पूर्ण होने के बाद भी ग्रामवासियों को पेयजल उपलब्ध न होने, ग्राम ईड़ा-बाराखाम पम्पिंग योजना की स्वीकृति के बाद भी कार्य शुरू नहीं होने, कई क्षेत्रों में जल जीवन मिशन योजना के तहत किये गये कार्यों के पूर्ण नहीं होने सम्बन्धी शिकायतें दर्ज करायी गयी। जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने बताया कि जल जीवन मिशन कार्यों में जो भी कमियॉ है उन कार्यों का निरीक्षण भारत सरकार की थर्ड पार्टी द्वारा किया जायेगा। उन्होंने सभी जनप्रतिनिधियों से अपील की वे अपने क्षेत्र के ग्राम विकास अधिकारी द्वारा भरे जाने वाले फीडबैक फार्म में अपने ग्रामसभा के कार्यों का फीडबैक अवश्य दर्ज करायें।

यह भी पढ़ें -  काशीपुर बाईपास पर लगने वाले जाम के झाम से जल्द मिलेगी निजात

क्षेत्रीय विधायक मदन सिंह बिष्ट ने अपने संबोधन में कहा कि सरकार मनरेगा का पैसा प्रधानों के खातों में नही डाल रही है। जिससे ग्राम पंचायतो के कार्य बाधित हो रहे हैं। विधायक ने सिंचाई विभाग को घेरते हुवे कहा कि ये विभाग पहले से ही पूर्व विधायक के कहने पर सारा काम गलत करवा रहे थे। जोकि अब नही होगा। उन्होंने द्वाराहाट क्षेत्र के पूजाखेत में पानी की समस्या को देखते हुए पानी टैंक के लिये विधायक निधि से धनराशि दिये जाने का आश्वासन दिया। उन्होंने सभी जल संस्थान, जल निगम के अधिकारियों को निर्देश दिये कि कितने ग्राम सभाओं में काम किया जा रहा है उनकी सूची तत्काल सभी जनप्रतिनिधियों को उपलब्ध करायी जाय।

विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान ग्राम कूणा में ट्रान्सफार्मर बदले जाने की शिकायत दर्ज की गयी। ग्राम सभा बासुलसेरा में विद्युत पोल बदलने, अनेक क्षेत्रों में पेड़ों की लोपिंग किये जाने व क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति सुचारू नहीं होने आदि समस्यायें सदस्यों द्वारा रखी गयी। जिस पर विभागीय अधिकारियों द्वारा तत्काल कार्यवाही किये जाने की बात कही। लोनिवि की समीक्षा के दौरान विगत पॉच वर्षों में विधायक निधि से निर्मित सड़कों का भौतिक सत्यापन किये जाने, सड़कों पर साईन बोर्ड लगाये जाने आदि शिकायतें सदन में रखी। जिस पर मुख्य विकास अधिकारी ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि उक्त कार्यों को तत्काल किया जाय।

एनएच, पीएमजीएसवाई की समीक्षा के दौरान बसेरा बैण्ड से आगे की सड़क सैधा तक स्वीकृति मिलने के पश्चात भी कार्य शुरू नहीं होने, जालली-नागार्जुन मार्ग में डामरीकरण नहीं होने आदि शिकायतों से अवगत कराया गया। जिस पर विभागीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कार्य करने के निर्देश दिये गये। इस बैठक में स्वास्थ्य, शिक्षा, पूर्ति आदि विभागों की समीक्षा की तथा सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि जो भी शिकायतें आज सदन में दर्ज करायी गयी है उनका निस्तारण करते हुए जनप्रतिनिधियों को भी अवश्य अवगत कराया जाय।

यह भी पढ़ें -  राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के प्रस्तावित भ्रमण कार्यक्रम के दौरान कल पहुंचेंगे देहरादून, पुलिस ने किए ये इंतजाम

मुख्य विकास अधिकारी नवनीत पांडे ने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये कि जो भी शिकायतें आज सदन में रखी गयी है। उनमें जल्द ही संज्ञान में लेकर इन शिकायतों का निस्तारण एक सप्ताह के भीतर करना सुनिश्चित करें तथा कृत कार्यवाही से सभी जनप्रतिनिधियों को भी अवश्य अवगत करायें।

वही ब्लाक प्रमुख दीपक किरौला ने कहा कि जो भी शिकायत यहां पर की जा रही है। उस पर 15 दिनों के भीतर कार्यवाही होनी चाहिए और इसकी प्रोग्रेस रिपोर्ट की भी जानकारी सामने आनी चाहिए।

जन प्रतिनिधियों ने छाना में बन रहे डैम पर सिंचाई विभाग को कोसते हुवे कहा कि आज तक लाखों रुपयों का पत्थर उस डैम से निकाला और बेचा जा चुका है। उसका हिसाब मिलना चाहिए। अगर भारत सरकार के खाते में वो पैसा नही गया, तो इसकी भरपाई ठेकेदार से की जानी चाहिए।साथ ही बरौली गांव के लिए इस डैम से सिंचाई हेतु नहर बनाने की भी जन प्रतिनिधियों द्वारा मांग की गई।

इस अवसर पर उप जिलाधिकारी जयवर्धन शर्मा, जिला विकास अधिकारी के0एन0 तिवारी, परियोजना निदेशक चन्दा फर्त्याल, ज्येष्ठ प्रमुख नन्दिता भट्ट, कनिष्ठ प्रमुख प्रकाश चन्द्र, नारायण सिंह रावत सहित सभी विभागीय अधिकारी व जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।