भीड़ापानी,ओखलकांडा में श्री देव गुरु उत्तरायणी महोत्सव का समापन, पहली बार आयोजन ग्रामीणों में खुशी….

ख़बर शेयर करें

संवाददाता – शंकर फुलारा

ओखलकांडा। पहली बार भीडापानी,नाई में श्री देव गुरु उत्तरायणी महोत्सव आयोजन किया गया।

आयोजकों में नरेश सिंह नयाल कोषाध्यक्ष

उत्तम सिंह नयाल, आयोजक समिति के सदस्यों ने और ग्रामीणों ने इस प्रोग्राम को आयोजित कराने में सहयोग किया।

अध्यमुख्य अतिथि, बहादुर सिंह नदगली, कुंदनचिलवाल, पर्यावरण प्रेमी चंदन नयाल आदि लोग।

उत्तरायणी महोत्सव के आयोजन में पर्वतीय लोक सांस्कृतिक उत्थान समिति नथुवाखान रामगढ़ नैनीताल,, ग्रुप के संयोजक,, अर्जुन बिष्ट,, शानदार कार्यक्रम आयोजित किए गए।

श्री देव गुरु उत्तरायणी महोत्सव के आयोजन में लोक गायक, राकेश जोशी, राकेश पनेरू,, लोक गायिका,, ममता पनेरू,, प्रियंका चिनियाल हास्य कलाकार ,,हर्षल मेलकानी, एवं समस्त डांस ग्रुप स्थानीय कलाकार शामिल थे।

श्री देव गुरु उत्तरायणी महोत्सव में मुख्य आकर्षण वृंदावन की होली रही एवं अनेक झोड़ा छपेली लोकगीत व स्थानीय कलाकारों की बेहतरीन प्रस्तुति ने ग्रामीणों को मंत्रमुग्ध किया व उनका भरपूर मनोरंजन किया। और ग्रामीणों ने श्री देव गुरु उत्तरायणी महोत्सव के आयोजकों को बधाई दी।

ग्रामीणों का कहना था कि इस प्रकार के आयोजनों से हमारी संस्कृति को संजोए है और अपनी संस्कृति के प्रति युवा बच्चों को सीखने को मिलेगा। हमारे युवा बच्चे भी हमारी संस्कृति से प्रेरित होंगे और अपनी संस्कृति को संयोजी रखने के प्रति आकर्षित रहेंगे।

श्री देव गुरु उत्तरायणी महोत्सव के मुख्य आकर्षण वृंदावन की होली रही एवं अनेक झोड़ा छपेली लोकगीत आदि।

स्थानीय ग्रामीण इस आयोजन से काफी खुश नजर आए वह भी महोत्सव पर अपने आप को थिरकने से नहीं रोक पाए।

कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य अपने रीति रिवाज अपनी बोली भाषा अपनी संस्कृति को बरकरार रखना व अपने तीज त्योहारों की परंपरा बनाए रखना है।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में एक बार फिर से डोली धरती

स्थानीय युवा अर्जुन बिष्ट ने भी आयोजकों की सराहना की और उनको इस प्रोग्राम के आयोजन के लिए धन्यवाद कहा उनका कहना था कि इस प्रकार के आयोजनों से हमारे युवाओं और बच्चों को हमारी संस्कृति को आगे बढ़ाने सीखने और समझने का अवसर मिलता है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *