झील में डूबे संजीवनी हॉस्पिटल के संचालक,तलाश जारी

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी। ट्रैकिंग पर गए संजीवनी अस्पताल के मशहूर सर्जन डॉ महेश कुमार झील में डूब गए। डॉ महेश कश्मीर के पुलवामा जिले में झील पर पैदल चलने के लिए बने लकड़ी के पुल पर जा रहे थे। अचानक तेज बारिश में पुल टूटने के कारण अपने साथी व स्थानीय गाइड डॉक्टर शकील अहमद के साथ झील की तेज धारा में बह गए। देर शाम तक चले सर्च आपरेशन में दोनों का पता नहीं चल सका। ऐसे में अनहोनी की आशंका में स्वजन सहमे हुए हैं।
घटनास्थल पर मौजूद 12 अन्य लोगों को बचाव दल ने सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया है। मिली जानकारी के अनुसार डा. महेश कुमार 18 जून को हल्द्वानी से अपने साथियों के साथ ट्रैकिंग के लिए तारसर झील क्षेत्र में पहुंचे थे। उनके साथ तीन टूरिस्ट गाइड व 14 अन्य लोग भी थे। वहां तीन दिन से लगातार भारी बारिश के कारण दल ऊपर फंस गया। झील का जलस्तर बढ़ने से तारसर झील पर बने पैदल पुल का हिस्सा ढह गया। इससे डा. महेश और उनके साथ रहे गांदरबल के डा. शकील अहमद झील में डूब गए। एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम ने दल के 12 सदस्यों को वहां से निकाल कर आरू बेस कैंप तक पहुंचा दिया। पहलगाम के तहसीलदार मोहम्मद हुसैन ने बताया कि डा. महेश व डा. शकील झील में डूब गए हैं। डा. महेश के साथ गए हल्द्वानी के डा. रोशन ने बताया कि वह डूब गए हैं। अभी उनका कुछ पता नहीं चल सका है। बचाव दल लगातार उनकी तलाश कर रहा है।