कार समेत नदी से बरामद हुआ भारतीय स्टेट बैंक प्रबंधक का शव

ख़बर शेयर करें

पौड़ी। दो दिन से लापता भारतीय स्टेट बैंक के सैंजी पौड़ी गढ़वाल शाखा प्रबंधक का शव नदी से बरामद किया गया। एसडीआरएफ ने कड़ी मशक्कत के बाद प्रबंधक के शव को कार समेत नदी से निकाला गया।

आपको बता दें ऋषिकेश बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर व्यासी के समीप एसडीआरएफ ने मंगलवार को सर्च अभ‍ियान चलाते गंगा तक पहुंचे। कार के भीतर से शव बरामद किया गया है। मौके पर मौजूद स्वजन ने मृतक की पहचान भारतीय स्टेट बैंक के शाखा प्रबंधक अमित विव्रेजा के रूप में की। इससे पहले दोपहर को ऋषिकेश बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर व्यासी के समीप एसडीआरएफ ने गंगा से कार बरामद की। पहाड़ी की ढलान से उनका आधार कार्ड, पैन कार्ड और बैंक परिचय पत्र मिला है। एसडीआरएफ के निरीक्षक कविंद्र सजवाण ने बताया कि मृतक सोमवार को दिन में दो बजे देहरादून से रवाना हुए थे।

लोकेशन के हिसाब से वह बीते रोज शाम सात बजे व्यासी में थे। उन्हें रात में ही सैंजी पौड़ी पहुंचना था, पुल‍िस और एसडीआरएफ ने व्‍यासी क्षेत्र में सर्च आपरेशन चलाया। सूचना के आधार पर थाना मुनिकीरेती के अंतर्गत व्यासी पुलिस चौकी प्रभारी प्रदीप रावत और एसडीआरएफ व्यासी की हेड कांस्टेबल सुरेश प्रसाद के नेतृत्व में टीम ने व्यासी क्षेत्र में सर्च किया।

थाना प्रभारी निरीक्षक मुनिकीरेती रितेश शाह ने बताया कि सर्चिंग के दौरान गंगा से एक कार बरामद हुई। कार को नदी से बाहर नहीं निकाला गया। जिस स्थान से यह कार गंगा में गिरी है वहां पहाड़ी से कुछ सामान मिला है। जिसमें शाखा प्रबंधक अमित विव्रेजा (36 वर्ष) पुत्र जबर सिंह निवासी कौलागढ़ थाना कैंट देहरादून का आधार कार्ड, पैन कार्ड और बैंक परिचय पत्र मिला। इसी के आधार पर सर्चिंग की गई।

यह भी पढ़ें -  खटीमा में फिर हाथियों ने महिलाओं पर किया हमला, चारों महिलाओं की हालत गंभीर

पुलिस के मुताबिक कार के भीतर एक व्यक्ति का शव देखा गया। ज‍िसकी पहचान बाद में बैंक शाखा प्रबंधक अमि‍त वि‍व्रेजा के रूप में हुई।थाना प्रभारी निरीक्षक थाना कैंट एसएस बिष्ट ने बताया कि बीते सोमवार को उनके भाई राजेश ने उनकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। वह सैंजी पाबो ब्लाक पौड़ी गढ़वाल में तैनात थे।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.