Connect with us

उत्तराखण्ड

कैची धाम मेले में लगे पुलिस बल को डीआईजी व एसएसपी ने किया ब्रीफ ,”अतिथि देवो भवः” के भाव व “मित्रता सेवा सुरक्षा” के साथ अपने कर्तव्य का निर्वहन करने के दिये निर्देश

15 जून को विश्व प्रसिद्व बाबा नीम करौली के आश्रम कैची धाम स्थापना दिवस के अवसर लगने वाले मेले के सफल आयोजन और सुरक्षा व्यवस्था को सुनिश्चित करने के लिए डाॅ0 योगेन्द्र सिंह रावत पुलिस उपमहानिरीक्षक कुमायूॅ परिक्षेत्र एवं प्रहलाद नारायण मीणा, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसएसपी नैनीताल ने मेले में तैनात पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों को पुलिस लाइन नैनीताल में ब्रीफ किया।

पुलिस उपमहानिरीक्षक महोदय द्वारा पुलिस बल को मेले के दौरान की गयी सुरक्षा व्यवस्था से अवगत कराया।

● सभी अधि0/कर्मचारियों को मेले में भीड़ नियंत्रण हेतु महत्वपूर्ण उपायों से अवगत कराते हुए विशेषकर बुजुर्गों ,बच्चों व दिव्यांजनों के लिए विशेष ध्यान रखने के निर्देश दिए।

● विगत वर्षों की भांति इस बार भी कैंची धाम मंदिर में बाबा नीम करोली महाराज के दर्शनार्थ आगंतुक श्रद्धालुओ की संख्या अधिक रहेगी। अतः कैची मेला ड्यूटी में लगे समस्त पुलिस अधिकारी/कर्मियों को सुगम यातायात हेतु निर्धारित यातायात प्लान के अनुसार ट्रैफिक डायवर्जन कराना है तथा कैची धाम पहुंचने वाले श्रद्धालुओं को कतारबद्ध तरीके से दर्शन करवाना पुलिस की प्राथमिकता रहेगी।

एसएसपी द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए बताया कि मेले के दौरान यातायात को सुचारू बनाए रखने के लिए पुलिस ने विशेष रूट डायवर्जन और पार्किंग की व्यवस्थाएं की हैं। यातायात व्यवस्था हेतु भारी पुलिस बल तैनात है, जो वाहनों की दिशा और प्रवाह को नियंत्रित करेंगी, ताकि मेले में आने वाले श्रद्धालुओं और पर्यटकों को किसी भी प्रकार की असुविधा का सामना न करना पड़े।

● पुलिस कर्मी श्रृद्वालुओं को भली-भाॅति यातायात व्यवस्था से अवगत करायेगें।

● पुलिस कर्मियों को किसी भी आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए तत्पर* रहने हेतु कहा गया। सभी से मृदु व्यवहार, सेवा भाव एवं कर्तव्यनिष्ठता के साथ कार्य करने के निर्देश दिये गये ताकि श्रद्धालु और पर्यटक बिना किसी कठिनाई के बाबा जी के दर्शन/ मेले का आनंद ले सकें।

यह भी पढ़ें -  भारी बारिश का अलर्ट जारी, भूस्खलन से बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग हुआ बंद

● श्रद्धालुओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हर संभव कदम उठाए तथा मन्दिर परिसर एवं मेले के दौरान असामाजिक तत्वों पर कड़ी दृष्टि रखी जाए।

● कैची धाम मेले की विशालता और भीड़ को देखते हुए, सुरक्षा व्यवस्था को अलग-अलग सुपर जोन, जोन, सेक्टर में विभाजित किया गया है। भारी मात्रा में पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है, बैरियर, पार्किग, मोबाईल पार्टी, फायर यूनिट, संचार व्यवस्था आदि की व्यवस्था की गयी है। जो मेले के विभिन्न क्षेत्रों में सतर्कता और निगरानी बनाए रखेगें। ताकि किसी भी अप्रिय घटना को तुरंत रोका जा सके।

● कैंची मंदिर परिसर की संपूर्ण* पुलिस व्यवस्थाओं के प्रभारी श्री प्रकाश चंद्र, अपर पुलिस अधीक्षक नगर हल्द्वानी को सौंपी गई है एवं समस्त पार्किंग व्यवस्था सटल व्यवस्था रूट व्यवस्था एवं डाइवर्जन व्यवस्था के प्रभारी श्री हरबंस सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक अपराध एवं यातायात नैनीताल को दी गई है।

● इसके अतिरिक्त कैंची मेला ड्यूटी के कुशल संपादन में अपर पुलिस अधीक्षक, पुलिस उपाधीक्षक स्तर के पुलिस अधिकारी गणों को जोन एवं निरीक्षक स्तर के पुलिस अधिकारी गणों को सेक्टर प्रभारी नियुक्त किया गया है।

● कैंची मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं की सुरक्षा व्यवस्था एवं सकुशल यातायात व्यवस्था हेतु राजपत्रित अधिकारी सहित, निरीक्षक, उप निरीक्षक, अपर उप निरीक्षक, हेड कांस्टेबल एवं सैकड़ों की संख्या पुलिस कर्मचारी को नियुक्त किया गया है। साथ ही सादे वस्त्रों मे एलआईयू, डॉग स्क्वाड, बम डिस्पोजल एवं एसओजी की टीम को संपूर्ण मेला परिसर के चप्पे-चप्पे पर निगरानीरत रहेगी।

● संपूर्ण कैंची मेला परिसर में कम्युनिकेशन हेतु जनपद की पुलिस संचार शाखा के अधिकारी/कर्मचारीगण दूरसंचार की संपूर्ण व्यवस्थाओं के साथ अलर्ट मोड रहने हेतु निर्देशित किया गया है। ब्रीफिंग के दौरान प्रकाश चंद्र अपर पुलिस अधीक्षक नगर हल्द्वानी, हरबंस सिंह अपर पुलिस अधीक्षक अपराध एवं यातायात नैनीताल, श नितिन लोहनी क्षेत्राधिकारी हल्द्वानी सहित कैंची मेला ड्यूटी में नियुक्त समस्त पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारीगण मौजूद रहे।

More in उत्तराखण्ड

Trending News