जिलाधिकारी नरेंद्र सिंह भंडारी ने किया धौन के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण

ख़बर शेयर करें

चंपावत। प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र धौन में आज जिलाधिकारी नरेंद्र सिंह भंडारी ने निरीक्षण कर स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान जिलाधिकारी श्री भंडारी ने प्राथमिक स्वास्थ्य केद्र धौन के प्रभारी चिकित्साधिकारी से स्वास्थ्य केन्द्र में आने वाले मरीजों को दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं व उपचार के सम्बंध में जानकारी हासिल की। चिकित्साधिकारी ने अवगत कराया कि चिकित्सालय में उनके अतिरिक्त एक फार्मासिस्ट तथा दो अन्य कार्मिक तैनात हैं। चिकित्सालय में एक महीने में लगभग 200 ओपीडी होती है, ओपीडी में मुख्य रूप से बुखार, डायरिया,संक्रमण आदि रोग से सम्बन्धित मरीज आते हैं जिनका उपचार कर दवा दी जाती है।

चिकित्सालय में मरीजों की संख्या में कमी आने के कारण जिलाधिकारी ने प्रभारी चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि वह प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र धौन के अन्तर्गत आने वाले गाँवों का एक चार्ट तैयार कर गाँव में चिकित्सा कैम्प का रोस्टर तैयार कर प्रत्येक महीने में कम से कम दो बार चिकित्सा कैंप आयोजित कर ग्रामीणों का स्वास्थ्य परीक्षण करें तथा कोविड-19 के मद्देनजर जाँच भी करें। निरीक्षण के दौरान चिकित्सालय में पेयजल की समस्या होने के सम्बन्ध में जिलाधिकारी ने मौके पर ही पेयजल विभाग के अधिकारियों को शीघ्र पेयजल लाईन की मरम्मत कर पेयजल व्यवस्था सुचारु करने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने कहा कि चिकित्सालय में सफाई व्यवस्था का विशेष ध्यान रखने के साथ ही आने वाले मरीजों का बेहतर उपचार करें। मरीज को चिकित्सालय से ही निःशुल्क दवा उपलब्ध कराई जाए। जिलाधिकारी ने मौके पर उपस्थित मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये कि जिले के प्रत्येक चिकित्सालय में एक बोर्ड चस्पा कराया जाए।

यह भी पढ़ें -  जीजीआईसी में लगेगा पुस्तक मेला, अध्यापक व विद्धानों संग हुई चर्चा

जिसमें चिकित्सालय में उपलब्ध सभी स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी हो जो चिकित्सालय में है। निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी डा.के.के.अग्रवाल उपजिलाधिकारी अनिल कुमार चन्याल तथा अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।
संवाददाता:- गौरव शर्मा टनकपुर