Connect with us

उत्तराखण्ड

नैनीताल-ऊधमसिंह नगर लोस सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी की दौड़ मे पूर्व सांसद डा. महेंद्र पाल सबसे आगे

हल्द्वानी। नैनीताल-ऊधमसिंह नगर लोकसभा सीट पर कांग्रेस प्रत्याशी चयन को लेकर हाईकमान स्तर पर मंत्रणा अंतिम दौर में पहुंच गई है। राजनीतिक सूत्रों के अनुसार कांग्रेस के टिकट की दौड़ में पूर्व सांसद डा. महेंद्र पाल सबसे आगे हैं। कुमाऊं विवि नैनीताल के पहले अध्यक्ष, हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के पहले निर्वाचित अध्यक्ष के साथ ही 2009 से लगातार उत्तराखंड बार काउंसिल के सदस्य तथा दो बार काउंसिल के चेयरमैन बन चुके डा. पाल को पिछली बार पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को टिकट मिलने की वजह से अंतिम समय में मैदान से बाहर हो गए थे।

जनता दल की सरकार के सांसद रह चुके हैं डा. पाल

2022 के विधानसभा चुनाव में रामनगर विस क्षेत्र में कांग्रेस प्रत्याशी रहे डा. पाल 1989 में जनता दल की सरकार के दौर में सांसद रह चुके हैं। राज्य बनने के बाद जब कांग्रेस की पहली निर्वाचित सरकार बनी तो दिग्गज नेता एनडी तिवारी को मुख्यमंत्री बनाया गया तो सांसद सीट से इस्तीफा देने के बाद उपचुनाव हुए तो डा. पाल को कांग्रेस ने उपचुनाव मे प्रत्याशी बनाया और जीत दर्ज की। डा. पाल कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष सहित विभिन्न पदों पर कार्य कर चुके हैं। अस्कोट पिथौरागढ़ के पाल राजवंश के डा. पाल को साफ सुथरी छवि का नेता माना जाता है। पर्वतीय तथा तराई के मतदाताओं में उनकी स्वीकार्यता बराबर बताई जाती है।

प्रत्याशियों की दौड़ में सबसे आगे हैं डा. पाल

नैनीताल-ऊधमसिंह नगर लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी के पैनल में डा. पाल का नाम सबसे ऊपर बताया जा रहा है। कांग्रेस सूत्रों के अनुसार, इस सीट से डा. पाल के अलावा उप नेता प्रतिपक्ष भुवन कापड़ी, वरिष्ठ नेता प्रकाश जोशी, पूर्व विधायक रंजीत रावत, पूर्व दर्जा मंत्री गणेश उपाध्याय, दीपक बल्यूटिया भी हैं। खुद प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा साफ कर चुके हैं कि हाईकमान अगर उन्हें उतारता है तो वह भी मैदान में उतरने को तैयार हैं। उधर बताया जाता है कि नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य लोकसभा चुनाव लड़ने से इनकार कर चुके हैं। उन्होंने हाईकमान के साथ ही प्रदेश प्रभारी कुमारी शैलजा के समक्ष भी अपनी अनिच्छा जाहिर कर दी है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad
यह भी पढ़ें -  हल्द्वानी: खेलते-खेलते लापता हो गए तीन दोस्त, पांच दिन बाद भी नहीं लगा कोई सुराग; जानें मामला
Continue Reading
You may also like...

More in उत्तराखण्ड

Trending News