उत्तराखंड-बिहार से चल रहा है ऑनलाइन फ्रॉड..ऐसा हुआ खुलासा

ख़बर शेयर करें

हेली सेवा के नाम पर भी जालसाजों ने कई लोगों को लाखों का चूना लगाया। ऐसे मामलों में पुलिस सख्त कार्रवाई कर रही है। इसी कड़ी में रुद्रप्रयाग पुलिस ने हेलीकॉप्टर टिकटों के नाम पर धोखाधड़ी कर ठगी करने वाले दो लोगों को दबोचा है। दोनों आरोपियों को बिहार के पटना से गिरफ्तार किया गया। दोनों पर पवन हंस कंपनी का हेलीकॉप्टर टिकट उपलब्ध कराने के नाम पर 1 लाख 12 हजार रुपये की ठगी करने का आरोप है। इनके खिलाफ शारदा (निवासी सोलन, हिमाचल प्रदेश) ने 17 मई 2022 को थाना गुप्तकाशी में शिकायत की थी।

शिकायत में पीड़ित ने बताया कि किसी अनजान शख्स ने केदारनाथ यात्रा के लिए हेली टिकट उपलब्ध कराने के नाम पर उनसे 1 लाख 12 हजार रुपये ले लिए। तय तिथि पर जब वो यात्रा के लिए पहुंचे तो उनको कोई टिकट नहीं मिला और ना ही टिकट दिलाने वाले व्यक्ति से उनका संपर्क हो पाया।शिकायत के आधार पर 17 मई को ही थाना गुप्तकाशी में पुलिस ने आईपीसी की धारा 420 में अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया और जांच शुरू कर दी। जांच के दौरान इस ऑनलाइन ठगी में इस्तेमाल संदिग्ध खातों में हुए लेन-देन के आधार पर आरोपियों की धरपकड़ की कोशिशें शुरू हो गईं। पुलिस टीम को बिहार भेजा गया। सर्विलांस की मदद से 28 वर्षीय कौशल कुमार पुत्र रामपुकार, निवासी पटना बिहार औऱ 30 वर्षीय राहुल कुमार पुत्र वरुण सिंह निवासी पटना, बिहार को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल ने बताया कि इन अभियुक्तों ने पवन हंस हेलीकॉप्टर कंपनी के नाम से फर्जी वेबसाइट तैयार की थी और उसे इंटरनेट पोर्टल पर सार्वजनिक कर दिया था। ये वेबसाइट इतनी भ्रामक थी कि लोग असली-नकली में पहचान नहीं कर पाते थे और लिंक क्लिक करके इनके झांसे में आ जाते थे। फिलहाल दोनों आरोपी पुलिस की गिरफ्त में हैं। दोनों को रुद्रप्रयाग लाने के बाद कोर्ट में पेश किया गया। जहां से उन्हें न्यायिक हिरासत में जिला कारागार पुरसाड़ी चमोली भेज दिया गया है।