Connect with us
Breaking news at Parvat Prerna

Uncategorized

दहेज की आग में जलती लड़कियाँ

भारत में आज भी दहेज प्रथा खत्म नहीं हुई है। आज भी दहेज की आग में ना जाने कितनी लड़कियां जलती है। दहेज मांग सबसे ज्यादा सरकारी नौकरी वाले करते है। अब सरकार ने दहेज पर लगाम लगाने के लिए सख्ती कर दी है। अब सरकारी कर्मचारियों को दजेह ना लेने का शपथ पत्र देना होगा।

शपथ पत्र में इस बात का उल्लेख किया जाएगा कि कोई भी कर्मचारी या फिर अधिकारी अपनी शादी में किसी प्रकार का कोई चेक और पैसे सहित महंगा सामान नहीं लेंगे। इस शपथ पत्र को भरकर अपने विभागाध्यक्ष को देना होगा। इसके बाद इसे शासन को भेजा जाएगा। वहीं जिन लोगों की शादी हो गई है उन्हें भी ये बताना होगा कि उन्होंने दहेज लिया है या नहीं।

जिले के सबसे बड़े सरकारी सेवा वर्ग से जुड़े शिक्षकों ने सरकार की इस व्यवस्था का स्वागत करते है और वह दहेज नहीं लेंगे साथ ही वह विद्यार्थियों के साथ औरों को भी दहेज ना लेने के लिए जागरूक करेंगे। सरकारी अधिकारियों- कर्मचारियों को अपनी शादी में दहेज लेने से रोक लगाने के लिए शासन स्तर से पहल शुरू हो गई है।

शिक्षको का कहना है कि हमें दहेज नहीं, पढ़ी-लिखी लड़की को प्राथमिकता देनी चाहिए। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष सकलदेव सिंह ने कहा कि शासन के इस आदेश का पालन हर शिक्षक करेगा और विद्यार्थियों व अन्य लोगों को भी प्रेरित करेगा।

यह भी पढ़ें -  कभी देहरादून की जीवन रेखा रही रिस्पना नदी प्रदूषण और अतिक्रमण से बनी नाला, दिखावा साबित हुए सरकारी अभियान

More in Uncategorized

Trending News