गुरुपूर्णिमा पर हिमालय संगीत शोध समिति का आयोजन

ख़बर शेयर करें

हमारे गुरु ने दिन्ही अमृत नाम जड़ी

हल्द्वानी। हिमालय संगीत शोध समिति के तत्वावधान में गुरुपूर्णिमा अवसर पर सांस्कृतिक संध्या का अयोजन किया गया, जिसमें गायन वादन नृत्य की नयनाभिराम प्रस्तुतियों ने मन मोह लिया। समिति के जे.के.पुरम मुखानी स्थित केन्द्र में समारोह का उद्घाटन रंगकर्मी डा.भुवन तिवारी, संगीताचार्य डा.पंकज उप्रेती ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया।

वरिष्ठ रंगकर्मी अनिल घिल्डियाल, आचार्य धीरज उप्रेती के संचालन में कार्यक्रम का शुभारम्भ गुरु वन्दना से हुआ जिसमें निमिश काण्डपाल, उत्कर्ष उप्रेती, अविरल शाह, कार्तिक काण्डपाल, निश्चय, दृष्टि नेगी, त्रिधा पाण्डे, मानसी भारती, ध्रुव दत्ता, सुभांशु दत्ता, प्रियांशी भारती, पाखी दत्ता, वर्णिता शर्मा, सिद्धि ने समूह रूप से प्रस्तुति दी- ‘हमारे गुरु ने दिन्ही अमृत नाम जड़ी’।

ठुमरी ‘मग रोको ना सांवरिया’ की भावनृत्य की प्रस्तुति कनिष्का वंसल, दिव्या जोशी, वरणिका शर्मा, उन्नति भट्ट प्रियांशी शर्मा ने दी।
बाल कलाकार भूमि जोशी, बरखा जोशी, वेद जोशी, वेदांश, परिनीता, तेजस लोहनी, अंकिता खोलिया, नीरज उप्रेती, नव्या उनियाल, शौर्य जोशी, अमोध्, बल्लभ बुवा, प्रग्या, काव्या ने ‘कभी राम बनके कभी श्याम बनके’ बोल पर सुन्दर भजन को प्रस्तुत किया।

दक्ष त्रिपाठी, कुशाग्र, शान्तनु, वेद, नितिन, काश्वी, अराध्या, पार्थ, अवनी, दिव्यांशी, निलांजन, सम्पदा, आयुष की टोली ने ‘‘छोटी छोटी गैया छोटे ग्वाल’’ की कर्णप्रिय प्रस्तुति दी। देव तिवारी, गर्विता, प्रथम भट्ट, अभया जोशी, दिव्या जोशी, शुभम पाण्डे, बी.कनिष्का, सुमित पाण्डे, जीविका भट्ट, अनुजा जोशी, दिव्यांश सनवाल ने गुरु वन्दना ‘‘मेरा आपकी कृपा से सब काम हो रहा है’’ की प्रस्तुति दी। देवांश पाण्डे, निध्षि भट्ट, प्रयान गंगोला, रश्मि पडियार, शिवांग, प्रियांशी शर्मा, आरोही भट्ट, उननती भट्ट, इशिता, कार्तिकेय, कार्तिक ने सन्देशात्मक गीत ‘‘भला किसी का कर न सको तो बुरा किसी का मत करना’’ प्रस्तुत किया।

यह भी पढ़ें -  यूओयू में मनाया गया राष्ट्रीय पुस्तकालय दिवस

कनिका जोशी, अंकिता क्वीरा, ज्योति, योगिता पाण्डे, ज्योति पाण्डे, लता भट्ट, हिमानी त्रिपाठी, कनिका जोशी ने कर्णप्रिय रचना ‘‘बाट निहारे घनश्याम’’ प्रस्तुत कर वाहवाही लूटी। युवा कलाकार भुवन शर्मा, दीपक आर्या, करन जोशी, आशीष मेहता, अंकित धरियाल, राहुल तिवारी, कुश जोशी, राजीव शर्मा, सुरेश जोशी, नवीन सती, शुभम पोखरिया ने गुरु वन्दना ‘‘गुरु दया करके मुझको अपना लेना’’ की प्रस्तुति दी। तबला संगति पर पंकज जोशी, शुभम पोखरिया, मयंक भट्ट थे। इस अवसर पर देवेन्द्र पांडेय, मनीष उप्रेती, मोनिका किलकोटी, सारिका तड़ागी, कविता मेहरा आदि ने वाहवाही लूटी।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.