Connect with us

कुमाऊँ

स्व० कैलाश पन्त की स्मृति में संस्कृत महाविद्यालय के छात्रों को बांटे कंबल,उनके सपनों को पूरा करने का लिया संकल्प

हल्द्वानी। गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर देव भूमि पन्त सेवा समिति (अखिल भारतीय पन्त परिषद) हल्द्वानी के सदस्यों ने अपने संस्थापक अध्यक्ष स्व० श्री कैलाश पन्त को उनकी आकस्मिक मृत्यु पर उनको भावभीनी ऋद्वाजलि अर्पित करते हुए उनकी स्मृति में आज कपिलाश्रमी संस्कृत विद्यालय पीलीकोठी हल्द्वानी में अध्ययनरत विद्यालय के छात्रावास में निवास कर रहे 58 विद्यार्थियों को कम्बल वितरित किये गये।

इस अवसर पर देवभूमि पन्त समिति (अखिल भारतीय पन्त परिषद) ने स्थापना दिवस पर विशेष आयोजन किया साथ ही बताया कि दिनांक 11-10-2015 को कैलाश पन्त मूल निवासी गराऊं बेरीनाग जिला -पिथौरागढ़ द्वारा अपने स्वजनों के एकीकरण की मूल भावना के साथ तथा समाज के गरीब एवं पिछड़े वर्ग के हितार्थ के लिए संस्था की स्थापना की थी। लम्बी बीमारी के बाद उनका आकस्मिक निधन 05 जनवरी 2024 को उनके वर्तमान निवास स्थान बाजपुर जिला उधमसिंहनगर में हो गया है। स्व० कैलाश पन्त द्वारा अपने जीवनकाल में समिति के स्थापना के बाद उसके मूल उद्देश्यों पर कार्य करना प्रारम्भ किया गया। अपनी अस्वस्थता के बावजूद उनके द्वारा समिति की बैठकों को हल्द्वानी में बुलाया जाता था ताकि बैठकों में सभी सदस्यगण आसानी से उपस्थित हो सके। उनके द्वारा अपने कार्यकाल में कई बार समिति के माध्यम से रक्तदान शिविर, तथा वृहद एवं ऐतिहासिक निःशुल्क चिकित्सा शिविरों का आयोजन किया गया। उनके द्वारा कराये गये निःशुल्क चिकित्सा शिविरों की चर्चा आज भी आम जन मानस में की जाती है।

मेडीकल कैम्प आयोजित करने के अलावा उनके द्वारा समिति के माध्यम से कोरोनाकाल के प्रथम लॉक डाउन अवधि में कोरोना अवधि के प्रथम योद्धाओं पुलिस कर्मचारियों और चिकित्सा कर्मियों अस्पतालों में दिल्ली से मंगवाकर फेस सील्ड मास्कों और सैनीटाइजर का निःशुल्क बितरण किया गया। जिस समय में उनके द्वारा समिति के माध्यम से फेस सील्ड मास्क और सैनीटाइजर का बितरण किया गया उस समय तक आम बाजार में यह सामान आसानी से उपलब्ध नहीं था। इसके अतिरिक्त समिति द्वारा गरीब लोगों के लिये लोकल प्रशासन के माध्यम से खाद्वय सामग्री, चावल, आटा, तेल, नमक आदि भी वितरित करवाया गया।

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड: जैन मुनियों के साथ दुर्व्यवहार, वीडियो वायरल होने पर सीएम धामी ने दिए जांच के आदेश, मुकदमा दर्ज

वकताओं ने कहा संस्थापक अध्यक्ष स्व० कैलाश पन्त समिति और समाज के लिये एक बट वृक्ष की तरह थे। उनके द्वारा हमेशा ही समिति के सदस्यों में उल्लास और उमंग भरा जाता था। उनका इस नश्वर संसार से इस तरह चला जाना समिति तथा समाज के लिये एक अपूर्णनीय क्षति है। स्व० कैलाश पन्त को ऋद्धांजलि अर्पित करते हुए समिति के सभी सदस्यों ने एक संकल्प लिया है कि उनके द्वारा छोड़े गये अधूरे कार्यों को समिति अवश्य पूरा करेगी और समाज के हित में तथा स्वजन एकीकरण के लिये निरन्तर कार्य करती रहेगी। तथा यह भी संकल्प लिया गया कि स्व० कैलाश पन्त की इच्छा के अनुसार कुमाउं मण्डल के सुदूरवर्ती क्षेत्रों में भी भविष्य में निःशुल्क चिकित्सा शिविरों का आयोजन किया जायेगा । कार्यक्रम के दौरान समिति के संरक्षक श्री केसी पन्त, अध्यक्ष दा0 एस0 पन्त, सचिव किशोर कुमार पन्त, अधिवक्ता, सदस्यगण सुरेश पन्त, नवीन पन्त, जीवन पन्त, पंकज पन्त, राजेन्द्र प्रसाद पन्त एडवोकेट, सुनील पन्त, पंकज पन्त, दा0सुनील पन्त, ललित मोहन पंत, प्रदीप पंत, जागृति पंत, हर्षित पंत वाम समिति के अन्य सदस्यगण तथा कपिलाश्रमी संस्कृत विद्यालय के विद्यार्थी दा0 श्री राजेंद्र भट्ट जी, व शिक्षकगण दा0 प्रकाश रुवाली, बंदना तिवारी, भारत भूषण पाण्डे, मधुकर उपाध्याय, माया मौलखी, बहुमत पंत , भुवन जोशी, दिनेश भट्ट और विद्यालय के सभी कर्मचारी और छात्रगण उपस्थित रहे।

कम्बल वितरण कार्यकम के उपरान्त समिति के अध्यक्ष डा० एस०सी पन्त तथा विद्यालय के प्रधानाचार्य डा० राजेन्द्र भट्ट द्वारा सभी का आभार व्यक्त किया गया और धन्यवाद ज्ञापित किया गया। कार्यकम की सफलता के लिये सभी को शुभकामनायें प्रेषित की गयी।

Continue Reading
You may also like...

More in कुमाऊँ

Trending News