प्रभारी जिलाधिकारी नें उत्तराखंड राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर विभागों को दिए निर्देश

ख़बर शेयर करें

चम्पावत। 9 नवंबर को उत्तराखंड राज्य स्थापना दिवस मनाए जाने हेतु रूपरेखा निर्धारण के लिए प्रभारी जिलाधिकारी हेमंत कुमार वर्मा की अध्यक्षता में बैठक आयोजित हुई। प्र.जिलाधिकारी ने जनपद के समस्त राजकीय भवनों में 07 नवम्बर से 10 नवंबर तक सायं 06:00 बजे से 11.00 बजे तक लो वोल्टेज के छोटे-छोटे बल्बों से प्रकाशमान करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने शिक्षा विभाग स्कूलों में निबंध/ रंगोली/ पेटिंग/ड्राईंग/वाद-विवाद प्रतियोगिता, क्वीज आदि का आयोजन करने के निर्देश दिए तथा प्रतियोगिताओं में नशा मुक्ति एवं स्वच्छता थीम को प्रमुख रूप से शामिल करने को कहा। उन्होंने कृषि, उद्यान, पशुपालन, पर्यटन, उद्योग केन्द्र, स्वजल, समाज कल्याण, मत्स्य समेत विभिन्न विभागों को 09 नवम्बर को गौरलचौड़ मैदान में अपने-अपने विभाग से संबंधित स्टाल लगाकर लोगों को राज्य/केन्द्र सरकार द्वारा चलायी जा रही लाभार्थीपरक योजनाओं से लाभान्वित करने के निर्देश दिए।

उक्त कार्यक्रमों में स्टाल, फर्नीचर आदि की व्यवस्था के लिए मुख्य कृषि अधिकारी को जिम्मेदारी दी है। पशुपालन विभाग को स्टाल लगाने के साथ ही पशु प्रदर्शनी भी लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने 09 नवम्बर से पूर्व जनपद के नगरीय क्षेत्रों में स्थापित शहीद स्मारकों की सफाई हेतु संबंधित अधिशासी अधिकारी एवं ग्रामीण क्षेत्रों के स्मारकों की सफाई हेतु संबंधित खण्ड विकास अधिकारी को साफ सफाई कराने के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों को स्थापना दिवस के अवसर पर उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारी, कर्मचारियों, शहीद के परिवारों आदि को सम्मानित करने के निर्देश दिए।

खेल विभाग को 09 नवंबर को गोरलचौड़ मैदान में खेल प्रतियोगिता तथा टनकपुर में क्रॉस कंट्री दौड़ आयोजित करने को कहा। उन्होंने उक्त कार्यक्रम के दौरान चिकित्सा विभाग को एम्बुलेंस के साथ ही अन्य आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने शिक्षा, युवा कल्याण एवं सूचना विभाग को स्थापना दिवस के अवसर पर संस्कृति कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें -  शासन की इस अधिशासी अभियंता के ऊपर गिराई गाज

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी राजेंद्र सिंह रावत, उप जिलाधिकारी सदर रिंकु बिष्ट, जिला विकास अधिकारी संतोष कुमार पंत समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

रिपोर्ट – विनोद पाल