कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने किया भवाली, श्यामखेत व भीमताल का दौरा,मौके पर ही दिये आवश्यक निर्देश

ख़बर शेयर करें

भवाली। कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत ने आज भवाली-श्यामखेत- भीमताल क्षेत्रों में निर्माणाधीन व्यवसायिक भवनों और उन भवनों जिनके पहले से चालान हो चुके हैं उनका व्यापक निरीक्षण किया। श्री रावत ने निर्माणाधीन रोडवेज बस स्टेशन का भी निरीक्षण कर शीघ्र कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिये। लकड़ी ताल में प्रस्तावित पार्किंग स्थल का निरीक्षण करते हुए उन्होंने कहा कि इस पार्किंग में बैंक, दुकानें भी होंगी। घोड़ाखाल चौराहे में स्थित एक व्यवसायिक निर्माणाधीन भवन का भी उन्होंने निरीक्षण कर उसके नक्शे की स्वीकृति से संबंधित दस्तावेज देखे। भवन स्वामी को भवन के साथ पार्किंग बनाने के निर्देश दिए।

दीपक रावत ने भवाली तिरछाखेत में चल रहे आवासीय प्रोजेक्ट में सचिव विकास प्राधिकरण से सभी पत्रावलियों का दोबारा जांच करने के स्पष्ट निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने सख्त कार्रवाई करने का निर्देश भी दिए। उन्होने कहा जिन भवनों में चालान के बाद भी अगर कोई काम कर रहे हैं या हुए हैं तो उनको सील करने की कार्रवाई की जाय।

उन्होंने श्यामखेत में अवैध आवासीय परिसर पर आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। भीमताल टीआरसी की पहाड़ी में स्थित निर्माणाधीन भवनों का निरीक्षण कर उनकी स्वीकृति और कार्रवाई के बारे में झील प्राधिकरण के सचिव पंकज उपाध्याय से जानकारी ली। साथ ही आवश्यक कार्यवाही करने को कहा। टीआरसी से आगे जाने वाले मार्ग में सुधीर सिंह के बन रहे भवन के बाहर मलबा पड़ा होने पर रावत ने तुरंत जिला सचिव पंकज उपाध्याय को इसमें चलानी कार्रवाई करने को कहा। माउंट इटलिस सोसाइटी में बन रहे भवनों के बारे में नाराजगी व्यक्त करते हुए माउंट इटली सोसाइटी का नक्शा कैंसिल करने के निर्देश दिए। कहा कि भविष्य में इस जगह में कोई भी कंस्ट्रक्शन नहीं होने पाए,

यह भी पढ़ें -  एसीसी 69 कैडेट ग्रेजुएट होकर भारतीय सैन्य अकादमी की मुख्यधारा में शामिल,इन्हें मिला पुरस्कार

निर्माणाधीन आवासीय भवन स्थल के पास बड़ी संख्या में मलबे के ढेर को देखते हुए उसमें तुरंत कार्रवाई करने के निर्देश दिये। नगर पालिका के ईओ और संबंधित अधिकारियों को कहा यदि निर्माणाधीन भवनों का चालान किया गया है तो उनके विरुद्ध सीज करने की कार्रवाई भी बहुत आवश्यक है। प्रायः देखा जा रहा है कि गैर कानूनी ढंग से बन रही या बिना नक्शा पास के बन रहे किसी भी भवन को जब सील किया जाता है तभी गैर कानूनी काम करने वालों को इससे कानून का डर रहेगा।
कुमाऊं कमिश्नर ने स्पष्ट रूप से कहा कि जिन स्थानों पर निर्माणाधीन भवन के पास मलबा 7 दिन के अंदर साफ नहीं किया जाएगा उन निर्माणाधीन भवनों का मानचित्र निरस्त कर दिया जाएगा। रावत ने प्राधिकरण अधिकारियों को यह भी कहा कि वह प्राधिकरण लागू होने के बाद पहले के गूगल मैप से देखकर स्थिति को सुनिश्चित करें। आगामी विकास प्राधिकरण की बैठक में यह बात भी रखी जाएगी, पहाड़ी क्षेत्र में बने भवनों के लिए भूगर्भ वैज्ञानिक की स्वीकृति को आवश्यक बनाया जाएगा। जिस से कमजोर पहाड़ियों में बन रहे व्यवसायिक भवनों पर अंकुश लगाया जा सके। इस बाद श्री रावत ने धरने पर बैठे लोगों से भी मुलाकात की। भीमताल कुमाऊं विश्वविद्यालय के परिसर बायोटेक्नोलॉजी में शोध छात्रा मीना बिष्ट द्वारा प्रोफेसर पर यौन उत्पीड़न और छेड़छाड़ के गंभीर आरोपों के बाद उचित कार्यवाही न होने से आक्रोशित भाजपा और स्थानीय लोगों द्वारा धरने पर बैठने के बाद

कुमाऊं आयुक्त दीपक रावत ने आज धरने पर बैठे लोगों से मुलाकात कर इस मामले को गंभीरता से लेकर उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया। उल्लेखनीय है कि धारचूला निवासी ममता बिष्ट पिछले कुछ सालों से बायोटेक्नोलॉजी विभाग में सोध कर रही थी, छात्रा का आरोप है कि एक प्रोफेसर उसको काफी समय से परेशान कर रहे थे, छात्रा ने प्रोफेसर पर गंभीर आरोप लगाए हैं धरने पर बैठे लोगों का कहना था मामले में 20 दिन पूर्व विभागाध्यक्ष वीना पांडे को पत्र सौंपा गया था लेकिन उसमें भी कार्यवाही नहीं हुई।