चिकित्सक व स्टाफ़ की कमी से जूझ रहा है सुशीला तिवारी अस्पताल: सुमित हृदयेश

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी। विधायक सुमित हृदयेश ने आज डॉक्टर सुशीला तिवारी अस्पताल की स्वास्थ सेवाओं का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने पाया की अस्पताल में विशेषज्ञ डाक्टर व स्टाफ की भारी कमी है। खासतौर पर कार्डीओंलॉजिस्ट, गायनेकोलॉजिस्ट, रेडियोलॉजिस्ट इत्यादि डॉक्टरों की कमी है। इसके अतिरिक्त उपकोरणो को चलाने के लिए व अन्य कामों के लिए स्टाफ़ की कमी दिखी। इस दौरान विधायक ने यह भी पाया गया की काफ़ी डाक्टर अल्मोड़ा के सरकारी हास्पिटल में स्थानांतरित कर दिए गए है परंतु उनकी जगह कोई भी नए डाक्टरों की नियुक्ति नही की गयी है।

श्री हृदयेश ने कहा मेरा सरकार को सुझाव है, यहां पर जल्द ही कैथ लैब की स्थापना की जाए क्योंकि हृदय रोगियों को सही इलाज ना मिलने की वजह से गरीब मरीजों को दूसरे अस्पतालों में रेफर किया जा रहा है। जहां इलाज बहुत महंगा है और इलाज ना करा पाने की अवस्था में मरीजों की मृत्यु हो रही है। सुशीला तिवारी अस्पताल कुमाऊँ में स्वास्थ सेवाओं का केंद्र है परंतु डॉक्टरों, नर्सिंग स्टाफ़ और अन्य स्टाफ़ की कमी होने से स्वास्थ सेवाए बाधित हो रही है।

इस बीच विधायक सुमित हृदयेश ने अस्पताल में विभिन्न वार्डों में भर्ती मरीज़ों एवं उनके तीमारदारों से स्वास्थ सम्बंधित व्यवस्थाओं का जायज़ा लिया और उनके बातचीत की।