चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री रावत ने किया बीडी चिकित्सालय का निरीक्षण

ख़बर शेयर करें

नैनीताल। प्रदेश के चिकित्सा स्वास्थ्य मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने आज प्रातः बीडी चिकित्सालय का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान श्री रावत एवं क्षेत्रीय विधायक सरिता आर्य एवं मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ भागीरथी जोशी ने संयुक्त रूप से सात प्राईवेट वाडों का उद्घाटन किया। उन्होनंे इस दौरान मेडिकल वार्ड, पैथोलोजी, फिजियौथैरोपी कक्ष, कार्डोंयोलौजी, प्राईवेट वार्डों का जायजा लेने के साथ ही मरीजों से मुलाकात करते हुए उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली व उनके जल्द स्वस्थ्य होने की कामना की।

उन्होंने कहा कि सभी डाक्टरों व स्टाफ के अधिकारी एवं कर्मचारियों ने कोविड-19 के दौरान भी अच्छा कार्य किया व निरन्तर वर्तमान में भी लोगों को अच्छी स्वास्थ्य सुविधाऐं दी जा रही है। उन्होंने कहा कि और अधिक बेहतर सुविधा मिले इसके लिए प्रदेश सरकार ने विभिन्न कार्यो के लिए पौने तीन करोड़ की धनराशि दी गई। मरीजों को और अधिक बेहतर सुविधा मिल सके।

श्री रावत ने कहा कि अच्छी स्वच्छता के लिए भी बीडी पाण्डे चिकित्सालय को प्रदेश उच्च स्थान प्राप्त हुआ हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के चिकित्सालयों में दवाई व डाक्टरों की कोई कमी नहीं है व एएलएम की भर्ती भी सरकार वर्षवार करने जा रही है। साथ ही शीघ्र ही 28 सौ नर्सो की भर्ती की प्रक्रिया की जा रही है एवं सरकारी चिकित्सालयों में जो वार्ड बॉय की कमी हैं सरकार द्वारा 2 दो हजार पदों को भरने के निर्देश सम्बन्धित मुख्य चिकित्साधिकारी को दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि एक्सरे, लेब टैक्निशियन के खाली पदों को आउटसोर्सिंग के माध्यम से भरने के निर्देश भी मुख्य चिकित्साधिकारियों को दिये गये ताकि जहॉ रिक्त पद हैं उनकी भरपाई की जा सके। उन्हांेने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा चिकित्सालयों को यह भी निर्देश दिये गये हैं कि चिकित्सालयों में जो गम्भीर मरीज आते हैं, तो आवश्यकता अनुसार उसे हवाई सेवा के माध्यम से बडे़ चिकित्सालय को रेफर करने का भी निर्णय लिया गया है। इसके तहत काफी लोगों को लाभ भी दिया जा चुका है।

यह भी पढ़ें -  रुद्रपुर में ₹2 लाख और दो बच्चों के साथ लुटेरी दुल्हन फरार

श्री रावत ने कहा कि प्रदेश के वैलेनेशन सेन्टरों को टेलीमेडिशन से जोड़ा गया जिस पर एक-एक घण्टे अब योगा की क्लास भी चलाई जायेगी। योग प्रशिक्षणों को 250-250 रूपया दिया जायेगा। उन्होंने टेलीमेडिशन को और अधिक विस्तार करने की भी बात कहीं ताकि उत्तराखण्ड के पर्वतीय क्षेत्र एवं दूरस्थ क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधा बेहतर मिल सके। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत एवं अटल आयुष्मान योजना चलाने वाला भारत में पहला प्रदेश उत्तराखण्ड है जिसके तहत अब तक पॉच लाख से ज्यादा लोगों का ईजाल किया जा चुका है तथा अब तक लगभग साढ़े सात सौ करोड़ रूपये खर्च किये जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार शीघ्र ही छ माह में प्रत्येक नागरिक का निशुल्क स्वास्थ्य स्मार्ट कार्ड बनाया जायेगा। इस दौरान माननीय मंत्री मण्डलीय अपर निदेशक (माध्यमिक शिक्षा कुमाऊँ मण्डल नैनीताल का भी निरीक्षण किया तथा मण्डलीय अधिकारी श्री लीलाधर व्यास से विस्तृत रूप से कार्यों की जानकारी ली।
इस अवसर पर पीएमएस डॉ धामी, तहसीलदार नवाजिश खालीक स्वाथ्य विभाग के डॉ अधिकारी व कर्मचारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.