सीमांत क्षेत्र में बढ़ेगी मोबाइल कनेक्टिविटी

ख़बर शेयर करें

टनकपुर। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के प्रयासों से चम्पावत जिले में दूरसंचार नेटवर्क में जल्द ही आमूलचूल परिवर्तन होने जा रहा है, विदित हो कि वर्षों से जिले के सीमान्त क्षेत्र के विभिन्न गांवों में मोबाईल नेटवर्क की कमी विकास कार्यों मैं बाधक बन रही है ।

सीमावर्ती क्षेत्रों में कई स्थानों पर नेपाल का दूरसंचार तंत्र अधिक मजबूत होने तथा भारतीय नेटवर्क कमजोर होने के कारण जहाँ सीमांत ग्रामीण नेपाली सिमों का प्रयोग करने के लिए मजबूर रहते हैं वहीं यह स्थिति राष्ट्र की सुरक्षा के लिए भी खतरा बन रही है।

हाल ही में अपने दिल्ली प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव के समक्ष यह प्रकरण प्रमुखता से उठाया था जिसके पश्चात चम्पावत विधानसभा क्षेत्र अन्तर्गत ’पूर्णागिरी तहसील में डांडा, ककनई, बुडम, कठौल, मथियाबॉज, तलिया, गंगसीर, पोथ, कालीगूँठ (पूर्णागिरी), कौली कुलाडी गॉव में मोबाईल नेटवर्क की स्वीकृती मिल गई है, इस बारे में जानकारी देते हुए टनकपुर के उप जिलाधिकारी हिमांशु कपलटिया ने बताया की सरकार द्वारा उठाए गए इस कदम के बाद से टनकपुर पिथौरागढ राष्ट्रीय राजमार्ग, टनकपुर जौलजीबी रोड, सूखीढांग डांडामीडार रोड पर यात्रा के दौरान अब यात्री मोबाईल सुविधाओं तथा हाई स्पीड इंटरनेट का प्रयोग कर पायेंगे, इससे क्षेत्र के पर्यटक स्थलों जैसे माँ पूर्णागिरी मन्दिर, गुरूद्वारा श्री रीठा साहिब, श्री एडी ब्यानधुरा मंदिर, श्यामलाताल आदि क्षेत्रों में आने वाले पर्यटकों को भी मोबाईल नेटवर्क मिल पायेगा, मजबूत दूरसंचार तंत्र से क्षेत्र में ई.कामर्स डिजिटल शिक्षा, वित्तीय समावेशन इत्यादि को भी बढावा मिलेगा।

Ad
Ad
Ad
Ad
यह भी पढ़ें -  बोल्डर की चपेट में आने से कैंटर चालक व क्लीनर की दर्दनाक मौेत

Leave a Reply

Your email address will not be published.