मोबाइल पशु चिकित्सा इकाई की हुई शुरुआत, धामी सरकार की पशुपालकों को बड़ी सौगात

ख़बर शेयर करें

देहरादून। उत्तराखंड के पशुपालकों को राज्य सरकार ने बड़ी सौगात दी है। उत्तराखंड सरकार ने आज मोबाइल पशु चिकित्सा इकाई की शुरुआत की है। जिसके माध्यम से दुरुस्त इलाकों में भी अब इन चिकित्सा इकाइयों के जरिए पशुओं का इलाज हो सकेगा। इसके लिए हेल्पलाइन नंबर 1962 भी जारी किया गया है।

इस मौके पर गोट वैली, नाबार्ड (आरआईडीएफ) राष्ट्रीय गोकुल मिशन और एनसीडीसी के अंतर्गत कई योजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास भी किया गया।

कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान ने कहा कि यह प्रदेश की चिकित्सा व्यवस्था के लिए मील का पत्थर साबित होगी। वहीं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि इन चिकित्सा इकाइयों के जरिए जो पशुधन को हानि होती है उस पर काफी हद तक अंकुश लग सकेगा और दूरस्थ इलाकों में पशुओं का उपचार हो सकेगा।

कार्यक्रम में पशुपालन मंत्री सौरभ बहुगुणा भी मौजूद रहे।। बता दे कि पहले चरण में 60 चिकित्सा इकाइयों को प्रदेश के 13 जिलों में भेजा जा रहा है जबकि दूसरी खेप में 60 और चिकित्सा इकाइयों को भी भेजा जाएगा।