Connect with us
Breaking news at Parvat Prerna

उत्तराखण्ड

दन्या में पानी की समस्या को लेकर क्षेत्रीय जनता ने अधिकारियों पर लगाया भ्रष्टाचार का आरोप, उपजिलाधिकारी भनौली के माध्यम से जिलाधिकारी अल्मोड़ा को भेजा ज्ञापन

सी.एम. हेल्पलाइन में शिकायत दर्ज करने पर भी अधिकारियों द्वारा गलत जवाब देने का लगाया आरोप

दन्या अल्मोड़ा। करोड़ों की लागत से बनी सरयू बेलक पंपिंग योजना एवं चीमार्ख दन्या पेयजल योजना विभागीय अधिकारियों की वजह के भ्रष्टाचार की भेट चढ़ी हुई है,इसी के तहत आज व्यापारियों एवं स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और पानी की समस्या को लेकर लोगों ने उप जिलाधिकारी कार्यालय भनौली में विरोध प्रदर्शन किया, 40 करोड़ की लागत से बनी यह सरयू बेलक पंपिंग योजना विकासखंड धौलादेवी की प्रमुख पेयजल योजना है इस योजना के तहत 39 ग्राम पंचायत के 280 गांव और तोंको में रहने वाले करीब 40 हजार से अधिक की आबादी को लाभ होता है लेकिन यह योजना शुरू से ही विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के कारण भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई थी जो कि शुरू में ही बना टैंक बरसात में ही जमीजोद हो चुका था उसके बाद फिर 32 लाख की लागत से भैसोड़ी गधेरे से लाइन बनाई गई जिससे की पानी की वैकल्पिक व्यवस्था हो सके लेकिन ऐसा भी नहीं हो पा रहा है, विभाग द्वारा पाइपों की गहराई लगभग 2 फीट बताई गई थी जो कि ग्रामीण क्षेत्रों में जमीन के ऊपर नजर आ रही है,क्षेत्र की दूसरी पेयजल योजना चीमार्ख दन्या लाइन जो कि लगभग 4 से5 दशक पहले बनाई गई यह योजना भी भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ी हुई है,व्यापारियों एवं क्षेत्रीय जनता ने आरोप लगाया है कि जल जीवन मिशन के अंतर्गत डेढ़ करोड़ खर्च होने के बावजूद भी इसमें 24 घंटे में 50 हजार लीटर पानी भी क्यों नहीं एकल हो रहा है जिसका जवाब संबंधित अधिकारीयो से ज्ञापन में मांगा गया है।समस्या दूर नहीं हुई तो होगा आंदोलनव्यापारियों और क्षेत्रीय जनता ने 10 दिन के अंतर्गत समस्या का समाधान नहीं होने पर व्यापार मंडल दन्या एवं क्षेत्रीय जनता आंदोलन को बाधित होगी जिसमें बाजार बंद एवं चक्का जाम जैसी कार्यवाही करने को जनता बाध्य होगी, जिसकी पूर्ण जिम्मेदारी विभाग और प्रशासन की होगी।

यह भी पढ़ें -  दुर्घटनाओं में रोकथाम के लिए परिवहन विभाग ने चलाया सघन चैकिंग अभियान

More in उत्तराखण्ड

Trending News