प्रेमी को बचाने के लिए पिता पर लगाया रेप का आरोप

ख़बर शेयर करें

दोस्त को बचाने के लिए उत्तराखंड की एक कलयुगी बेटी ने अपने पिता पर ही दुष्कर्म का आरोप लगा दिया।यह पूरा शर्मनाक मामला ऋषिकेश से सामने आया है। ऋषिकेश कोतवाली में जुलाई 2020 को मुकदमा दर्ज हुआ था। शुरुआत में पीड़िता के पिता ने दो युवकों के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था। उन्होंने बताया था कि इन युवकों ने नशीला पदार्थ खिलाकर उनकी बेटी के साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद पुलिस ने पीड़िता का मेडिकल और फिर मजिस्ट्रेटी बयान दर्ज कराए। पहले तो पीड़िता ने पुलिस के सामने यह कबूल किया कि उसके दोस्तों ने ही उसके साथ में दुष्कर्म किया है। मगर इस दौरान वह अपने मौखिक बयानों से पलट गई। उसने आरोपियों में से एक युवक को अपना दोस्त बताया। उसने अपने दोस्त बचाने की खातिर अपने पिता के चरित्र को बदनाम करते हुए कहा कि उसका पिता लंबे समय से उसके साथ दुष्कर्म करता रहा है।पीड़िता ने कहा कि दोस्त निर्दोष है और उसकी कोई गलती नहीं है। बल्कि वह उससे प्यार करती है और उससे शादी करना चाहती है। पीड़िता ने बताया था कि वह उससे शादी करना चाहती है। इसी के साथ ही पीड़िता ने अपने पिता के ऊपर भी आरोप लगाया कि वह उससे कई महीनों से दुष्कर्म करता आ रहा है। इसके बाद अब वह इन युवकों को फंसाने की बात कर रहा था। इन बयानों के बाद पुलिस ने पीड़िता के पिता को दुष्कर्म का आरोपी मानते हुए न्यायालय में चार्जशीट दाखिल की। जिस युवक के खिलाफ पीड़िता के पिता ने मुकदमा दर्ज कराया था, उससे वह शादी कर चुकी है। 2 साल के बाद आखिरकार कोर्ट ने यह माना कि पीड़िता ने अपने पिता से नफरत की भावना के चलते उनके ऊपर दुष्कर्म का आरोप लगाया था जिसके बाद कोर्ट ने निर्दोष पिता को ससम्मान रिहा कर दिया है।