गरीब छात्र,छात्राओं को निशुल्क शिक्षा देगा सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप

ख़बर शेयर करें

हल्द्वानी। सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप ऑफ कॉलेज के संयुक्त तत्वाधान में प्रदेश के आर्थिक रूप से कमजोर 300 छात्र- छात्राओं को निशुल्क उच्च शिक्षा प्रदान की जाएगी। यह जानकारी सीआईएमएस के चेयरमैन एडवोकेट ललित जोशी ने दी।

उन्होंने बताया कि उत्तराखंड में ऐसे तमाम गरीब, असमर्थ बच्चे हैं जिन्हें पढ़ाने के लिए उनके पास होनर है लेकिन पैसा नहीं है ऐसे में सीआईएमएस ने 2022-23 सत्र के लिए 300 बच्चों को निशुल्क उच्च शिक्षा देने का फैसला लिया है।

मंगलवार को यहां आयोजित प्रेस वार्ता में श्री जोशी ने बताया कि उत्तराखंड में आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को जहां उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए आर्थिक तंगी रहती है वहीं प्रदेश के अधिकांश युवा नशे के जंजाल में फस रहे हैं, जिन्हें देखते हुए सीआईएमएस एंड यूआईएचएमटी ग्रुप ने यह निर्णय लिया।

उन्होंने बताया कि वह आगे से प्रतिवर्ष 300 छात्र छात्राओं को निशुल्क शिक्षा प्रदान करेंगे, ताकि युवा आगे बढ़कर अपने परिवार के भरण-पोषण के साथ-साथ प्रदेश एवं देश के काम आ सके। अपने जीवन के तमाम कठिन संघर्ष को साजा करते हुए श्री जोशी ने बताया कि उन्होंने पिछले 12 वर्षों में 1,000 से अधिक स्कूल एवं शिक्षण संस्थानों में जाकर नशे के खिलाफ 5 लाख युवाओं के मध्य युवा संवाद के माध्यम से जन जागरूकता कार्यक्रम चलाया,जो वर्तमान में भी गतिमान है।

इस दौरान फिल्म अभिनेता प्रमुख कलाकार हेमंत पांडे ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम के दौरान ललित जोशी ने अपने गुरुजनों व अपने सभी आदर्शवादी मित्रों को सम्मानजनक तरीके से सम्मानित भी किया।

यह भी पढ़ें -  शारदा नदी में 60 वर्षीय व्यक्ति नें लगाई छलांग जल पुलिस के साथ स्थानीय लोगों नें किया रेस्क्यू

उन्होंने बताया कि 300 छात्र छात्राओं को निशुल्क उच्च शिक्षा दिए जाने के लिए फार्म भरने की अंतिम तिथि 30 नवंबर 2022 तक रखी गई है। इसलिए पहले आओ पहले पाओ के माध्यम से सीटें आवंटित की जाएंगी। प्रेस वार्ता में क्षेत्र के तमाम लोक कलाकार, लोक संस्कृति एवं साहित्य से जुड़े हुए लोग तथा गुरुजनों ने भी उपस्थित रहे।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.