सितारगंज पुलिस ने कैबिनेट मंत्री की हत्या का षड्यंत्र रचने बालों को किया गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें

सितारगंज । पुलिस ने कैबिनेट मंत्री व सितारगंज से विधायक सौरभ बहुगुणा की हत्या करने के आरोप में चार लोगों को गिरफ्तार किया है। साथ ही सितारगंज पुलिस ने पकड़े गए अभियुक्तों को मान्य न्यायालय में पेश कर दिया है।

बता दे कि कोतवाली में विधायक प्रतिनिधि उमाशंकर दुबे द्वारा कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा के जीवन को क्षति पहुंचाने का षड्यंत्र रचने का आरोप लगाते हुए चार लोगों के खिलाफ नामजद तहरीर दी गई थी वही सितारगंज पुलिस ने तहरीर के आधार पर मुकदमा पंजीकृत कर मामले की जांच शुरू कर दी थी साथी सितारगंज पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है साथ ही माननीय न्यायालय पेश किया जा रहा।

मिली जानकारी के मुताबिक हल्द्वानी जेल में बैठकर आरोपियों ने कैबिनेट मंत्री की हत्या की योजना बनाई थीं। आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए एसपी सिटी के नेतृत्व में पुलिस की टीमें बनाई गई थीं। प्रदेश में अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ता ही जा रहा है। अपराधी इतने बेखौफ हो गए हैं कि अब वह मंत्रियो की भी सुपारी लेने लगे हैं। सितारगंज विधानसभा से विधायक और प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा की हत्या की साजिश रचने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। सितारगंज पुलिस ने मंत्री की हत्या की साजिश रचने का मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने मुख्य आरोपी हीरा सिंह कोटा फार्म सितारगंज निवासी के साथ ही एक तांत्रिक बाद दो अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

बताया जा रहा है कि सिडकुल क्षेत्र में सरकारी जमीन कब्जाने का आरोप में हीरा सिंह के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था, और सितारगंज पुलिस ने हीरा सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, जहां उसे वहां 13 अप्रैल को हल्द्वानी जेल चला गया था। हीरा सिंह अपनी गिरफ्तारी और खनन का कारोबार बंद होने के लिए कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा को जिम्मेदार मानता था। जेल में बंद हीरा की मुलाकात बहेड़ी निवासी सतनाम सिंह से हुई इसके बाद दोनों ने कैबिनेट मंत्री को रास्ते से हटाने का षड्यंत्र रचा। जमानत पर छूटने के बाद अपने प्लान के अनुसार हीरा सिंह ने सतनाम सिंह के परिचित सितारगंज निवासी हरभजन सिंह से मुलाकात की जिसने हीरा सिंह को किच्छा निवासी तांत्रिक मोहम्मद अजीज उर्फ गुड्डू से मिलवाया। हीरा सिंह ने कैबिनेट मंत्री को बस में करने या रास्ते से हटाने के लिए तांत्रिक को एडवांस के तौर पर साढ़े पांच लाख रुपए भी दिए थे।

यह भी पढ़ें -  डीआईजी कुमायूँ ने स्पा सेंटर पर कराई ताबडतोड छापेमारी…,

पुलिस के अनुसार आरोपियों ने षड्यंत्र को अंजाम देने के लिए मंत्री के घर की रेकी भी की थी। हीरा सिंह 3 दिन पहले एक स्थानीय जनप्रतिनिधि के साथ सौरव बहुगुणा के घर पर पहुंचा था और मंत्री से रोजगार संबंधी वार्ता भी की थी। वही सितारगंज चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है साथ ही माननीय न्यायालय में पेश कर दिया है।