छात्र नेताओं ने स्कूल बस पकड़ने पर एआरटीओ के खिलाफ की नारेबाजी

ख़बर शेयर करें

सितारगंज। यहां वाहनों की चेकिंग के दौरान एआरटीओ ने स्कूली बस को पकड़ लिया। इसमें सवार मासूम को करीब एक घंटे तक चिलचिलाती गर्मी में मंडी में रहना पड़ा। इसके बाद छात्र नेता अजय कठायत ने आरटीओ के खिलाफ नारेबाजी शुरू की तो बाद में बच्चे को घर भेजा गया। इस दौरान एआरटीओ ने करीब दस वाहन सीज किए।

बुधवार को एआरटीओ खनन वाहनों की चेकिंग के लिए निकले थे। इस दौरान उन्होंने तीन खनन वाहनों के खिलाफ कार्रवाई की। इस बीच एआरटीओ ने दो स्कूली बसों को भी दस्तावेज की कमी के कारण पकड़ लिया। एक बस में स्कूल जाने वाला बच्चा और वार्डन सवार थी। एआरटीओ विभाग के कर्मचारियों ने बसों को मंडी में खड़ा कर दिया। करीब एक घंटे तक बच्चा चिलचिलाती धूप में बस में बैठा रहा। इस बीच मामले की जानकारी छात्र नेता अजय कठायत को हुई। वह मंडी पहुंचे और एआरटीओ के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। छात्र नेता के हस्तक्षेप के बाद प्रशासन ने छात्र को घर पहुंचाने की व्यवस्था की। इसके बाद मामला शांत हुआ।

छात्र नेता अजय कठायत का कहना है कि सितारगंज से किच्छा, पीलीभीत, हल्द्वानी समेत कई मार्गों पर डग्गामार बसें चल रही हैं। इन पर कोई कार्रवाई नही की जा रही है। जबकि स्कूली बसों को पकड़ लिया जा रहा है। इस वजह से बच्चों को परेशानी हो रही है। इसके अलावा खनन वाहनों पर रोक नहीं लग रही है। एआरटीओ वीके सिंह ने बताया कि रोजाना अभियान चलाकर चेकिंग की जा रही है। स्कूल प्रबंधक को पहले भी चेतावनी दी गई थी। इसके बाद भी दस्तावेज पूरे नहीं कोई गए थे। इस कारण कार्रवाई की गई है।

Ad
Ad
Ad
Ad
यह भी पढ़ें -  कोतवाल को फसाने वाली हीना रावत चढ़ी पुलिस के हत्थे, संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज

Leave a Reply

Your email address will not be published.