Connect with us

उत्तराखण्ड

भैरव मंदिर खोया पाया केंद्र द्वारा अब तक एक महीने में 205 श्रद्धालुओं को परिजनों से मिलवाया

पूर्णागिरि। पूर्णागिरि मेले को अब पूरा एक महीना हो चूका है मेले के दौरान पूर्णागिरि मेले में चंपावत और उत्तराखंड के अन्य जिलों से आये पुलिसकर्मी अपनी तैनाती के दौरान श्रद्धालुओं की मदद करने हेतु अपनी अहम भूमिका में उभरती हुई दिख रही है इसी क्रम में थाना भैरव मंदिर में बना खोया पाया केंद्र के माध्यम से उत्तराखंड पुलिस के द्वारा गुमशुदा श्रद्धालुओं को उनके परिजनों से मिलाने का कार्य लगातार किया जा रहा है।

इसी के साथ श्रद्धालुओं के मोबाइल फोन, पर्स, रुपयों के खो जाने पर पुलिस द्वारा कीमती सामानों की खोजबीन कर श्रद्धालुओं के सुपुद्र करने का कार्य लगातार किया जा रहा है। आज कुसुमपुर जिला बाराबंकी उत्तर प्रदेश से पूर्णागिरि धाम अपने परिजनों के साथ दर्शन करने आई 12 वर्षीय अर्चना मेले के दौरान भीड़ में बिछड़ गई जिसकी सूचना परिजनों द्वारा भैरव मंदिर खोया पाया केंद्र में दी गई।

सूचना पर थानाध्यक्ष हरीश प्रसाद के नेतृत्व में तत्काल कार्रवाई करते हुए काफी खोजबीन के बाद गुमशुदा अर्चना को 3 से 4 घंटे के भीतर काली मंदिर के पास से खोज लिया गया। जिसके बाद गुमशुदा 12 वर्षीय बालिका को उसके परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया परिजनों द्वारा उत्तराखंड पुलिस द्वारा किए जा रहे।लगातार ऐसे सराहनीय कार्य की प्रशंसा की गई।

इस दौरान गुमशुदा बालिका की खोजबीन करने वालों में भैरव मंदिर थानाध्यक्ष हरीश प्रसाद, महिला कांस्टेबल दीपा, कॉन्स्टेबल शिव शंकर मौजूद रहे।

रिपोर्ट – विनोद पाल

यह भी पढ़ें -  ऋषिकेश में देर रात तक दोस्तों के साथ गप मार रहा था युवक, पिता ने डांटा तो घर आकर की आत्महत्या
Continue Reading
You may also like...

More in उत्तराखण्ड

Trending News