वर्षो से खाली पडे़ मिनी औद्योगिक आस्थान गरूड़ शीघ्र होगा आबाद

ख़बर शेयर करें

बागेश्वर। जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने अनटाईड फंड से आस्थान के 04 जीर्ण-शीर्ण शेडों के मरम्मत हेतु 7.40 लाख की धनराशि दी, ग्रामीण निर्माण विभाग द्वारा शेडों का मरम्मत कार्य किया जा रहा है, कार्य पूर्ण होते ही 04 फर्मो को शेड आंवटित किए जाएंगे। जिलाधिकारी श्रीमती पाल ने अनटाईड फंड से औद्योगिक आस्थान गरूड के 04 शेडों के मरम्मत कार्य का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान ग्रामीण निर्माण विभाग के सहायक अभियंता के अनुपस्थित रहने पर जिलाधिकारी ने सहायक अभियंता का वेतन रोकने के निर्देश मौके पर दिए। उन्होंने महाप्रबंधक उद्योग एवं ठेकेदार को शेडों का मरम्मत कार्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने महाप्रबंधक उद्योग से औद्योगिक आस्थान की पूर्ण जानकारियां ली।

महाप्रबंधक उद्योग ने बताया कि मिनी औद्योगिक आस्थान गरूड़ में 06 शेड बनाए गए थे, जिसमें से 02 शेड मोनिका टैक्सटाईल व मै0 मॉ भ्रामरी लघु उद्योग को आंवटित है। आवंटित दोनों फर्मो द्वारा कार्य नही किया जा रहा है, दोनों फर्मो का सब्सिडी योजना के तहत बैंकों के साथ न्यायालय में वाद चल रहा है।

लगभग दो वर्षो से न्यायालय में वाद चलने के कारण कार्य बंद है, जिस पर जिलाधिकारी ने दोनों फर्म प्रबंधकों को चेतावनी नोटिस जारी करते हुए 15 दिनों में कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिए, यदि दोनों फर्म 15 दिन में आस्थान में कार्य संचालित नहीं करते हैं तो शेड खाली कराने के निर्देश भी मौके पर महाप्रबंधक उद्योग को दिए, ताकि शेड नए उद्यमियों को आवंटित किए जा सकें।

महाप्रबंधक उद्योग जीपी दुर्गापाल ने जिलाधिकारी को बताया कि 04 शेड जिनका मरम्मत कार्य किया जा रहा है उनके आवंटन हेतु 04 उद्यमियों के आंनलाइन प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए है, जिसमें कौसानी शॉल, कुमांऊ वुड वर्क, पर्वतीय फ्लोर मिल एवं न्यूट्रासिटीकल्स के प्रार्थना पत्र है।

यह भी पढ़ें -  बाहरी राज्यों से आये कारोबारियों का भी हो पुलिस सत्यापन

जिस पर जिलाधिकारी ने मौके पर मौजूद उद्यमियों से वार्ता कर वर्क प्लांन शीघ्र प्रस्तुत करने के निर्देश दिए, ताकि शीघ्र आस्थान में शेड आंवटित किए जा सकें। उन्होंने कहा उद्यमियों का उद्योग संचालन में जो भी सुविधाएं चाहिए होंगी उपलब्ध करायी जायेंगी।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *