सांस्कृतिक समिति के तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय कला उत्सव समापन

ख़बर शेयर करें

रानीखेत। सांस्कृतिक समिति के तत्वावधान में आयोजित चल रही तीन दिवसीय कला उत्सव का स्थानीय मिशन इंटर कालेज परिसर में रंगारंग समापन हो गया है। सांस्कृतिक समिति अध्यक्ष विमल सती ने आभार भाषण देकर विभिन्न प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग करने वाले विजेताओं की घोषणा की और अतिथियों को स्मृति चिह्न देकर सम्मान किया।

अतिथियों द्वारा कला दीर्घा में कलाकृतियाँ लगाने वाले कलाकारों, हस्तशिल्पियों को स्मृति चिह्न व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।
मुख्य अतिथि ने अपने संबोधन में कहा कि इतने छोटे शहर में बिना किसी सरकारी प्रयास के कला उत्सव का भव्य आयोजन कराना एक बहुत बडी़ बात है। संस्कृति के क्षेत्र में कार्य करते आ रहे विमल सती और उनकी टीम को बधाई देते हुए कहा कि ऐसा प्रयास भविष्य में भी जारी रहना चाहिए। उन्होनें कहा कि नृत्य के क्षेत्र में बच्चों की प्रतिभा को और निखारने के लिए प्रशिक्षण कार्य शाला लगाने की जरुरत है।

विशिष्ट अतिथि डाॅक्टर अनिल जोशी ने कहा कि मौजूदा दौर में और भविष्य में सरकारी नौकरियों का अभाव होने वाला है। ऐसे में हमें हस्तशिल्प और हाथ के हुनर की ओर बढ़ना होगा, और आगे यही रोजगार का साधन बनेगा। ऐसे कार्यक्रम व प्रदर्शनी हस्तशिल्पियों, कलाकारों का हौसला बढ़ाने में मील का पत्थर साबित होंगी।

समापन समारोह के मुख्य अतिथि डाॅक्टर एन सी तिवारी और विशिष्ट अतिथि डाॅक्टर अनिल जोशी रहे। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता मोहन नेगी ने की। मुख्य अतिथि ने अपने संबोधन में कहा कि इतने छोटे शहर में बिना किसी सरकारी प्रयास के कला उत्सव का भव्य आयोजन कराना एक बहुत बडी़ बात है। संस्कृति के क्षेत्र में कार्य करते आ रहे विमल सती और उनकी टीम को बधाई देते हुए कहा कि ऐसा प्रयास भविष्य में भी जारी रहना चाहिए। उन्होनें कहा कि नृत्य के क्षेत्र में बच्चों की प्रतिभा को और निखारने के लिए प्रशिक्षण कार्य शाला लगाने की जरुरत है।

यह भी पढ़ें -  लिव इन पार्टनर को जिंदा जलाने का प्रयास, महिला की हालत नाजुक

समारोह के अध्यक्ष मोहन नेगी ने कला उत्सव को रानीखेत की प्रतिभाओं को उभारने का सराहनीय प्रयास बताया।उन्होनें कहा कि नगर में खेल मैदान न होने से सांस्कृतिक कार्यक्रम कराने में अड़चनें आ रही हैं। फिर भी कला उत्सव कराने का साहस आगे की राह खोलता है। उन्होंने कहा कि कला उत्सव में प्रतिभागियों व नागरिकों का उत्साह बताता है कि लाॅक डाउन के कारण ऐसे कार्यक्रमों से वंचित रहे लोग अब खुले आसमान के नीचे भरपूर मनोरंजन चाहते हैं। सांस्कृतिक समिति के अध्यक्ष विमल सती और सभी अतिथियों द्वारा कार्यक्रम में प्रतिभाग कर रहे स्कूली बच्चों को पुरस्कार वितरित किए ।

भाषण प्रतियोगिता में सुमन रावत नेशनल इंटर काॅलेज, प्रथम, कोमल गोस्वामी राजकीय इंटर कालेज कुनेलाखेत द्वितीय व शुभ पाठक जी डी बिड़ला मैमोरियल स्कूल, तृतीय रहे।

चित्रकला प्रतियोगिता में सिद्धार्थ रथ कक्षा 8 आर्मी पब्लिक स्कूल रानीखेत, प्रथम, लक्षिता मेहरा कक्षा 7 गोविंद सिंह माहरा स्प्रिंग फील्ड पब्लिक स्कूल, द्वितीय व गौरव कोटलिया कक्षा 7 केंद्रीय विद्यालय रानीखेत, तृतीय रहे।

चित्रकला प्रतियोगिता में कक्षा 1 से 5 तक के बच्चों में अंशिका, बियरशिवा पब्लिक स्कूल चिलियानौला, प्रथम, पारस जोशी राजकीय प्राथमिक पाठशाला नवीन रियूनी, द्वितीय, कनक रावत केंद्रीय विद्यालय रानीखेत, तृतीय स्थान प्राप्त हुआ।युगल नृत्य प्रतियोगिता जूनियर वर्ग में भाग लेते हुए
प्रथम स्प्रिंग फील्ड पब्लिक स्कूल प्रथम, राजकीय कन्या जूनियर हाईस्कूल जैनोली, द्वितीय व विवेकानंद विद्या मंदिर ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। वहीं सीनियर वर्ग नृत्य प्रतियोगिता प्रथम माउंट सिनाई स्कूल, प्रथम, विवेकानंद विद्या मंदिर, द्वितीय और नेशनल इंटर कालेज ने तृतीय पुरस्कार प्राप्त किया। पारम्परिक परिधान प्रतियोगिता में विराज केंद्रीय विद्यालय ने प्रथम, सिद्धि पाठक कनौसा कान्वेंट ने द्वितीय व मीनाक्षी रीना जूनियर हाईस्कूल ने तृतीय पुरस्कार प्राप्त किया।

यह भी पढ़ें -  सिरफिरे ने अपनी शादीशुदा प्रेमिका पर सरिये से किया हमला

वाद विवाद प्रतियोगिता में केन्द्रीय विद्यालय की प्रेरणा मेहरा ने प्रथम, केन्द्रीय विद्यालय की स्नेहा शर्मा द्वितीय और नेशनल इण्टर कॉलेज की ज्योति बिष्ट ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। वहीं ऐपण प्रतियोगिता के महिला वर्ग में नेहा बेलवाल प्रथम, छात्रा वर्ग अंजलि प्रथम पुरस्कार प्राप्त किया। समारोह में विभिन्न प्रतियोगिताओं के निर्णायकों रहे ज्योति पांडे, वरिष्ठ पत्रकार सीएम पपनै, ओम प्रकाश साह, संदीप गोरखा, शोभा पंत, माया नैनवाल को भी सांस्कृतिक समिति द्वारा सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में सांस्कृतिक समिति के हरीश लाल साह, गौरव भट्ट, विजय पांडे, कुलदीप, राजेन्द्र पंत, गौरव तिवारी, सोनू सिद्दीकी सहित अन्य कला प्रेमी उपस्थित रहे। मंच का संचालन दीपक पंत,अशोक पंत ने किया।