Connect with us

उत्तराखण्ड

उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ ने मांगों को लेकर दिया ज्ञापन

उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ ने अपनी विभिन्न मांगों को लेकर मुख्य शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन सौपा। दिनांक 03मई 2023द्वारा जनपद के रा०प्रा० वि० में प्र0अ ०, रा०उ प्रा०वि०में स०अ०तथा प्र०अ०के पदों पर पदोन्नति हेतु रिक्ति एवं जनपद की वरिष्ठता सूची प्रकाशित की गयी है।

दिए गए ज्ञापन में जनपद के सभी विकासखंडों के शिक्षकों के द्वारा अवगत कराया गया है कि उक्त वरिष्ठता सूची में वरिष्ठ अध्यापक को कनिष्ठ अध्यापक के बाद दर्शाया गया है जिससे उनकी पदोन्नति प्रभावित होगी (आपत्ति पत्र संलग्न ) । रा०प्रा०वि०के प्र०अ०तथा रा०उ०प्रा०वि०के स०अ०एवं प्र0अ0 के रिक्त पद कम प्रकाशित किये गये है।

पत्र में शिक्षकों से पदोन्नति हेतु 2021-22 एवं 2022-23 की आनलाइन गोपनीय आख्या मांगी गयी है जो वर्तमान में पोर्टल से निकालना संभव नहीं हो पा रहा है। उक्तवत महोदय से अनुरोध है

1- जनपद के रा०प्रा०वि०के प्र०अ०, रा०उ० प्रा०वि०में स०अ०तथा प्र०अ०के समस्त रिक्त पदों पर पदोन्नति की जाय।

2- जनपद की वरिष्टता सूची में सुधार करवाने का कष्ट कीजियेगा जिससे कि सभी शिक्षकों को उनकी वरिष्ठता के कम में पदोन्नति का लाभ मिल सके साथ ही भविष्य में किसी प्रकार की विसंगति न हो।

3- शिक्षकों से 2015 से गोपनीय आख्या मांगी गयी है जब कि नियमानुसार केवल पांच वर्ष की गोपनीय आख्या मांगी जानी चाहिये थी अतएव अनुरोध है कि सभी शिक्षकों से पांच वर्ष की गोपनीय आख्या निर्धारित प्रपत्रों में ही मंगवाने का कष्ट कीजियेगा।

4- जनपद में विगत वर्षों में पदोन्नत शिक्षकों के प्रकरणों पर विभागीय नियमानुसार विगत वर्षों की भांति विचार किया जाय। समस्याओं का सकारात्मक निराकरण करवाते हुए पारदर्शी तरीके से जनपद के सभी रिक्त पदोन्नत पदो पर पदोन्नति अतिशीघ्र की जायेगी जिससे कि विद्यालयों में शैक्षिक व्यवस्थाएँ तो बेहतर होंगी ही साथ ही लंबे समय से पदोन्नति की राह देख रहे शिक्षकों को भी पदोन्नति का लाभ मिल सकेगा। वही शिक्षक संघ ने कहा की समस्याओं का सकारात्मक समाधान नहीं होने की स्थिति में जनपद के शिक्षको को आंदोलन हेतु बाध्य होना पडेगा।

यह भी पढ़ें -  नगर पंचायतों में प्रशासकों का कार्यकाल तीन महीने के लिए बढ़ाया

More in उत्तराखण्ड

Trending News