Connect with us

उत्तराखण्ड

सफेद कागजी घोड़े दौड़ा रही सरकार : मनोज

कहा- बदहाल सड़कों के कारण पर्यटन व्यवसायी व युवाओं की आजीविका संकट में

  • नवीन बिष्ट

अल्मोड़ा। जब से भाजपा की उत्तराखण्ड सरकार सत्तासीन हुई है, धरातल पर विकास कार्यों पर ब्रेक लग गया है. सरकार केवल घोषणाओं और कागजी घोड़े दौड़ाने के अलावा कोई काम नहीं कर रही है। सरकार की उदासीनता पराकाष्ठा में पहुंच गई है। स्थिति यह हो गई है कि जनता की मूलभूत सुविधाओं के लिए शासन प्रशासन संवेदन शून्य हो गया है सरकार की उदासीनता के चलते विकास डी रेल होगई है। स्थिति यहां पहुंच गई है कि उच्चन्यायालय की शरण में जाना पड़ रहा है। यह बात अल्मोड़ा के विधायक मनोज तिवारी ने कही, तिवारी यहां पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सरकार के नकारात्मक रवैये के कारण सारे विकास कार्य जहां के तहां पड़े हैं।

पर्यटन के जरिए रोजगार का ढोल पीटने वाली सरकार के चलते सड़कों की बदहाली के कारण पर्यटन व्यवसाय रसातल की ओर जा रहा है। ऐसे में पर्यटक की आमद कैसे होगी। होटल सहित पर्यटन से जुड़े युवा के सामने रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया है। मनोज तिवारी ने कहा कि पूरे प्रदेश में मुख्य सड़कों की हालत बद से बदतर हो गई है। नगर के आंरिक मार्गों की हालत इतनी खराब हो गई है कि आए दिन दुर्घटनाएं हो रही हैं, कोई देखने सुनने वाला नहीं है। लम्बे समय से धार की तूनी से एनटीडी संपर्क मार्ग दयनीय हालात को देखते हुए रोड को लेकर लगातार शासन प्रशासन से गुहार का नतीजा नहीं निकलने के बाद हताश होकर अन्ततः न्यायालय की शरण में जाना पड़ा।

यह भी पढ़ें -  केद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कुमाऊँ को दी अनेकों सौगात

पीआईएल दायर करनी पड़ी। जिस काम को सरकार ने स्वतः संज्ञान लेकर करना चाहिए था, उसमें न्यायालय को हस्तक्षेप करना पड़ रहा है। यह लोक तांत्रिक व्यवस्थाओं के लिए अच्छे संकेत नहीं है। पत्रकार वार्ता में कांग्रेस की महिला प्रकोष्ट की अध्यक्ष राधा बिष्ट, जिला अध्यक्ष भूपेन्द्र भोज गुड्डू नगर अध्यक्ष तारा चन्द्र जोशी, पूरन रौतेला, त्रिलोचन जोशी सहित अनेक कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Ad
Continue Reading
You may also like...

More in उत्तराखण्ड

Trending News