बाघ के निवाले से बच गई महिला, चीख पुकार कर छूटी जान

ख़बर शेयर करें

बेतालघाट। घास काटने साथियों के संग गयी महिला पर घात लगाये बाघ ने हमला कर दिया। किसी तरह चीख पुकार कर महिला ने जान बचाई। घटना सोमवार लगभग 3 बजे की बताई जा रही है।

बेतालघाट क्षेत्र के एक गांव की महिला कमला उप्रेती पत्नि मोहन चंद्र उप्रेती रोपा रोड में घास काटने अपने साथियों के संग गयी थी, धात लगाए बाघ ने महिला पर झपटा मारा और उसे घसीटकर ले गया । महिला के गाल में नाखून से पूरा नोच रखा है। सिर में भी काफ़ी चोट आयी है । महिला द्वारा चीख पुकार की गयी तो उसके साथी भागकर उसके पास गए और उसको बाघ के मुँह से बचाया। तुरंत सभी महिलायें उसको नज़दीकी हॉस्पिटल में लाए, जहाँ डॉक्टर सिशुक मोहन द्वारा उसका उपचार किया गया। और तुरंत महिला को रेफ़र किया गया है। महिला को बचाने में उसके साथी कविता देवी,जीवंती देवी, प्रभा देवी, तारा देवी महिलायें थी। पूर्व सरपंच तारा भंडारी द्वारा तत्काल वन विभाग के रेंजर को सूचित किया गया है और पिंजरा लगाने की माँग की है। अगर पिंजरा नही लगाया जाता है तो समस्त गाँववासियों के साथ धरना प्रदर्शन किया जाएगा।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
Ad
Ad
यह भी पढ़ें -  मौसम का दूसरा हिमपात, बर्फ से ढकी पहाड़ की ऊंची चोटियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *