Connect with us

उत्तराखण्ड

उत्तराखंड में वन क्षेत्र से अब तक 429 अवैध धर्मस्थल हटाए, 252 हेक्टेयर भूमि कराई कब्जामुक्त

उत्तराखंड में वन क्षेत्र में अवैध कब्जों पर लगातार कार्रवाई की जा रही है। धर्मस्थल के नाम पर किए गए अतिक्रमण को ध्वस्त करने के लिए वन विभाग की टीम युद्धस्तर पर कार्य कर रही है। बीते एक माह में अभियान चलाकर कुल 429 अवैध धर्मस्थल हटा दिए गए। इनमें 388 मजार और 41 मंदिर शामिल हैं। अब तक वन विभाग 252 हेक्टेयर भूमि को कब्जामुक्त करा चुका है।

अतिक्रमण के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई
सरकारी भूमि पर अतिक्रमण के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जा रही है। प्रभागीय वनाधिकारियों को अपने-अपने प्रभाग में भारतीय वन अधिनियम (उत्तराखंड संशोधन)-2002 के सुसंगत प्रविधानों के अनुसार वन भूमि पर अतिक्रमण हटाने के निर्देश दिए गए हैं।

वन विभाग की ओर से अवैध धर्मस्थलों को चिह्नित करने और उन्हें हटाने की प्रक्रिया जारी है। नोडल अधिकारी मुख्य वन संरक्षक पराग मधुकर धकाते ने बताया कि गुरुवार को बदरीनाथ वन प्रभाग में वन भूमि पर अतिक्रमण हटाया गया।साथ ही कार्बेट टाइगर रिजर्व में भी अवैध धर्मस्थलों को हटाने की कार्रवाई जारी रही। प्रथम चरण में प्रदेश में 500 से अधिक अवैध धर्मस्थल चिह्नित किए गए।

जिनमें से ज्यादातर हटा दिए गए हैं, जबकि कुछ धर्मस्थलों को नोटिस भेजे गए हैं। प्रभागीय वनाधिकारी सेटेलाइट के माध्यम से भी अवैध निर्माण को चिह्नित कर रहे हैं। नोडल अधिकारी ने बताया कि सभी प्रभागों को कार्रवाई की विस्तृत रिपोर्ट मुख्यालय को भेजने के निर्देश दिए गए हैं।वन क्षेत्र में अतिक्रमण कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

अवैध निर्माण के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। वर्तमान में वर्ष 1980 के बाद बनाए गए अवैध धर्मस्थलों को हटाया जा रहा है। इससे पहले के निर्माण पर निर्णय बाद में लिया जाएगा।राजाजी टाइगर रिजर्व की अलग-अलग रेंज में अतिक्रमण कर बनाए गए 11 धार्मिक स्थालों को हटा दिया गया। अतिक्रमण को लेकर पूर्व में इन धार्मिक स्थलों को हटाने का नोटिस चस्पा किया गया था।

यह भी पढ़ें -  चैत्र नवरात्रि: लोकतंत्र के महापर्व के लिए दून जिले में नौ देवियों के हाथ चुनावी रथ की कमान

कोर्ट के आदेश के बाद सरकारी भूमि से अवैध अतिक्रमण को ध्वस्त करने का काम किया जा रहा है। इसी क्रम में पिछले दिनों राजाजी टाइगर रिजर्व की सभी रेंज में अतिक्रमण चिह्नित किया गया था। अतिक्रमण हटाने के लिए राजाजी टाइगर रिजर्व की ओर से नोटिस चस्पा किया गया था।बावजूद अतिक्रमण नहीं हटाने पर गुरुवार को राजाजी टाइगर की टीम ने चीला वाली रेंज में तीन, धोलखंड में दो, बेरीवाडा में दो, हरिद्वार रेंज में दो और कासरो रेंज से दो अवैध रूप से बनाई गए धार्मिक स्थलों को ध्वस्त किया।

कुछ दिन पूर्व राजाजी की चीला रेंज में एक और हरिद्वार रेंज से दो धार्मिक स्थल हटाकर अतिक्रमण मुक्त किया गया था।राजाजी टाइगर रिजर्व के वार्डन रविंद्र पुंडीर ने बताया कि टाइगर रिजर्व की भूमि में अतिक्रमण किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। बताया कि अभी तक टाइगर रिजर्व की सीमा से अतिक्रमण कर बनाए गए 14 धार्मिक स्थलों को हटा दिया गया है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

More in उत्तराखण्ड

Trending News