Connect with us

Uncategorized

ऑगर मशीन के क्षतिग्रस्त ब्लेडों को सुरंग से बाहर निकाला, वर्टीकल ड्रिलिंग की तैयारी शुरू

उत्तरकाशी टनल रेस्क्यू ऑपरेशन एक बार फिर रुक गया है। सुरंग के अंदर ऑगर मशीन को भारी नुकसान हुआ है। रेस्क्यू ऑपरेशन विज्ञान और तकनीक की दुनिया के लिए पहेली बन गया है।

.
ऑगर मशीन हुई खराब
बता दें अमेरिकन ऑगर मशीन शुक्रवार रात एक बार फिर खराब हो गई। सुरंग के अंदर फंसे 41 श्रमिक बाहर निकलने की उम्मीद लगाए हुए हैं। लेकिन हर बार मशीन के आगे कुछ न कुछ बाधा आ रही है। इस बार मशीन का बरमा ही भीतर अटक गया है। फिलहाल वर्टिकल ड्रिल की तैयारी तेज कर दी गई है।

क्षतिग्रस्त ब्लेडों को सुरंग से बाहर निकाला
सुरंग के अंदर फंसे 41 मजदूर भी हताश हो रहे हैं। लगातार शासन-प्रशासन की ओर से उनका हौसला बढ़ाया जा रहा है। लेकिन आज ऑपरेशन में आई बाधा से 14 दिन से सुरंग में फंसे मजदूरों में निराशा बढ़ गई है। ऑगर मशीन के क्षतिग्रस्त ब्लेडों को सुरंग से बाहर निकाल दिया गया है। इसके अलावा वर्टीकल ड्रिलिंग की तैयारी शुरू हो गई है।

सुरंग के ऊपरी हिस्से से हो रहा पानी का रिसाव

14 दिन से सुरंग के अंदर फंसे मजदूरों को बाहर न निकालने पर बाहर अपनों का इंतजार कर रहे परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा। ऑगर मशीन के फंसने से रेस्क्यू ऑपरेशन में लगे अधिकारी भी मायूस हैं। बताया जा रहा है सिलक्यारा टनल के ऊपरी हिस्से में शनिवार को पानी का रिसाव बढ़ गया। जिससे चिंताएं बढ़ती दिख रही है।

Ad
यह भी पढ़ें -  आज हरिद्वार पहुंचंगे नितिन गडकरी, करेंगे दूधाधारी फ्लाई ओवर का उद्घाटन

More in Uncategorized

Trending News