सीबीआई ने दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर मारी रेड

ख़बर शेयर करें

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर पर CBI की रेड पड़ी है. मनीष सिसोदिया ने इसकी पुष्टि की है कि CBI के अधिकारी उनके घर पहुंचे हैं। उन्होंने ट्विटर पर लिखा है।
“CBI आई है। उनका स्वागत है. हम कट्टर ईमानदार हैं. लाखों बच्चों का भविष्य बना रहे हैं। बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है कि हमारे देश में जो अच्छा काम करता है उसे इसी तरह परेशान किया जाता है। इसीलिए हमारा देश अभी तक नम्बर-1 नहीं बन पाया.”इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक CBI ने दिल्ली सरकार की एक्साइज पॉलिसी के संबंध में ये छापेमारी की है. जांच एजेंसी ने मामले में FIR दर्ज की थी, जिसमें आरोप लगाया गया था कि पिछले साल नवंबर में लाई गई एक्साइज पॉलिसी को बनाने और लागू करने में कई गड़बड़ियां की गईं। बताया गया है कि मामले में मनीष सिसोदिया के घर के अलावा दिल्ली-एनसीआर में 20 से ज्यादा लोकेशन पर केंद्रीय एजेंसी ने रेड मारी है।

1 सितंबर, 2022 से दिल्ली में शराब से जुड़ी पुरानी आबकारी व्यवस्था लागू होनी है। फिलहाल 6 महीने के लिए इसे वापस लाने का फैसला किया गया है।नई आबकारी नीति को लेकर खासा विवाद हो गया था। ऐसे में दिल्ली सरकार ने वापस पुरानी पॉलिसी लाने का फैसला किया था जिसके तहत राजधानी में शराब की कोई प्राइवेट शॉप नहीं होगी।फिलहाल मौजूदा नीति के तहत इन प्राइवेट शॉप्स को 31 अगस्त शराब बेचने की अनुमति है। इस पॉलिसी के लागू होने के बाद दिल्ली में शराब कारोबार सरकार के हाथ से निकलकर प्राइवेट प्लेयर्स के पास चला गया था। लेकिन 1 सितंबर से इनका शटर डाउन हो जाएगा। हालांकि उससे पहले मनीष सिसोदिया के घर CBI का पहुंचना कई सवाल खड़े कर गया है।खबर सामने आते ही दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने मंत्री का बचाव किया। उन्होंने ट्विटर पर लिखा है,“जिस दिन अमेरिका के सबसे बड़े अख़बार न्यूयॉर्क टाइम्स के फ़्रंट पेज पर दिल्ली शिक्षा मॉडल की तारीफ़ और मनीष सिसोदिया की तस्वीर छपी, उसी दिन मनीष के घर केंद्र ने CBI भेजी. CBI का स्वागत है. पूरा सहयोग करेंगे। पहले भी कई जांच/रेड हुईं। कुछ नहीं निकला था, अब भी कुछ नहीं निकलेगा।

यह भी पढ़ें -  पाकिस्तान को गुप्त सूचनाएं भेजने के आरोप में विदेश मंत्रालय का ड्राइवर गिरफ्तार

यहां दिलचस्प बात ये है कि अरविंद केजरीवाल ने कुछ समय पहले भविष्यवाणी की थी कि केंद्र की जांच एजेंसियां मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार कर सकती हैं। जून में कथित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी के बाद केजरीवाल ने कहा था कि अब कुछ दिनों में मनीष सिसोदिया को निशाना बनाया जाएगा। जुलाई में भी अरविंद केजरीवाल ने अपनी बात दोहराई. उपराज्यपाल के शराब नीति की CBI जांच कराने के आदेश के बाद सीएम केजरीवाल ने कहा था कि केंद्र सिसोदिया की गिरफ्तारी चाहता है.बहरहाल, बीजेपी का आरोप है कि शराब के ठेकों के नाम पर मनीष सिसोदिया ने घोटाला किया है। उपमुख्यमंत्री के यहां CBI की रेड पड़ने की खबर सामने आते ही बीजेपी के कार्यकर्ता कपिल मिश्रा ने कहा,।“सत्येंद्र जैन का करप्शन पकड़ा जा चुका है। सिसोदिया के घोटाले अब जनता के सामने आ रहे हैं। शराब के ठेकों के नाम पर करोड़ों रुपये की लूट का मामला सिर्फ़ शुरुआत है। केजरीवाल सरकार के भ्रष्टाचार के ख़िलाफ़ हमारी लड़ाई जारी है। दिल्ली को लूटने वालो को जेल जाना ही पड़ेगा”ANI की रिपोर्ट के मुताबिक CBI ने मनीष सिसोदिया के घर समेत कुल 21 जगहों पर छापेमारी की है। एक अधिकारी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि CBI ने दिल्ली के एक्साइज कमिश्नर ए. गोपीकृष्णा के यहां भी रेड की है। उनके अलावा दिल्ली के कुछ और अधिकारियों के यहां भी रेड पड़ने की जानकारी है।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.