Connect with us

Uncategorized

इलेक्ट्रिक गाड़ी के ट्रायल के दौरान हुआ था हादसा, महिला अधिकारी की तलाश जारी

चीला रेंज में सोमवार शाम को हुई सड़क दुर्घटना में दो रेंजर समेत चार वन अधिकारियों की मौत हो गई थी। जबकि पांच लोग घायल है और एक लापता। लापता महिला अधिकारी वन्यजीव प्रतिपालक आलोकी का अभी कुछ पता नहीं चल पाया है। उनकी तलाश में SDRF की टीम लगातार सर्च ऑपरेशन चलाए हुए है।

महिला अधिकारी की तलाश जारी
SDRF कमान्डेंट मणिकांत मिश्रा के नेतृत्व में रेस्क्यू अभियान चलाया जा रहा है। SDRF द्वारा अत्याधुनिक खोजी उपकरण और अंडरवाटर ड्रोन के माध्यम से सर्चिंग अभियान जारी है। वहीं दूसरी ओर SDRF के डीप डाइवर्स द्वारा स्कूबा डाइविंग करते हुए नहर के तल तक खोजबीन जारी है।

हादसे के बाद चीला शक्ति नहर का पानी भी रोक दिया गया है। जिसके बाद राफ्ट, मोटर बोट की सहायता से भी निरन्तर सर्चिंग अभियान जारी है। फिलहाल महिला अधिकारी का कुछ पता नही लग पाया है। मंगलवार शाम बढ़ते अंधेरे और कोहरे के कारण सर्च ऑपरेशन को रोक दिया गया था। जिसके बाद एक बार फिर अभियान को शुरू कर दिया है।


ऋषिकेश के चीला मार्ग पर आठ जनवरी की शाम एक बड़ा हादसा हो गया। जिसमें दो रेंजर समेत चार लोगों की मौत हो गई। जबकि पांच लोग घायल और एक लापता है। इलेक्ट्रिक गाड़ी के ट्रायल के दौरान यह दर्दनाक हादसा हुआ था। हादसे के दौरान वाहन में 10 लोग सवार थे।

वाहन के ट्रायल के दौरान उसका टायर फट गया। जिससे वाहन अनियंत्रित होकर पेड़ से टकराकर पलट गया। गाड़ी के सवार दो अफसर चीला शक्ति नहर में जा गिरे। हादसे में चीला के रेंजर शैलेश घिल्डियाल, उप वन क्षेत्राधिका प्रमोद ध्यानी, सैफ अली खान पुत्र खलील उल रहमान और कुलराज सिंह की मौत हो गई थी।

यह भी पढ़ें -  युवती ने तांत्रिक पर घर से सारे कष्ट दूर करने का झांसा देकर दुष्कर्म करने का लगाया आरोप

बता दें शैलेश घिल्डियाल पीएमओ के उपसचिव मंगेश घिल्डियाल के भाई थे। जानकारी के मुताबिक हादसे में एक महिला कर्मचारी वन्य जीव प्रतिपालक आलोकी अभी भी लापता है। महिला की तलाश में गोताखोरों की टीम जुटी हुई है। इसके अलावा पांच घायलों का ऋषिकेश एम्स में इलाज चल रहा है।

More in Uncategorized

Trending News