Connect with us

उत्तराखण्ड

सिलक्यारा पहुंचे विदेशी विशेषज्ञ, मुख्य द्वार पर बने मंदिर में पूजा-अर्चना कर अभियान में जुटे

उत्तरकाशी के सिलक्यारा में पिछले आठ दिन से 41 मजदूर सुरंग के अंदर फंसे हुए हैं। आज रेस्क्यू ऑपरेशन का नौवां दिन है। श्रमिकों को सुरंग से बाहर निकालने के लिए जद्दोजहद जारी है। वहीं रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए विदेशी विशेषज्ञ की टीम भी सिलक्यांरा पहुंच गई है।


सिलक्यारा पहुंचे विदेशी विशेषज्ञ
सुरंग के अंदर फंसे मजदूरों को बाहर निकालने का आज नौवां दिन है। कोशिश जारी है लेकिन सफलता अभी हाथ नहीं लग पाई है। पीड़ितों को बाहर निकालने के लिए बचाव अभियान के तहत सोमवार को भारी मशीनें सिलक्यारा पहुंच गई है। इसके साथ ही इंटरनेशनल टनलिंग अंडरग्राउंड स्पेस के अध्यक्ष प्रोफेसर अर्नोल्ड डिक्स भी रेस्क्यू के लिए सिल्क्यारा पहुंच गए हैं।

मंदिर में पूजा-अर्चना कर अभियान में जुटे

सिलक्यारा पहुंचे इंटरनेशनल टनलिंग अंडरग्राउंड स्पेस के अध्यक्ष प्रोफेसर अर्नोल्ड डिक्स ने सुरंग के मुख्य द्वार पर बने बाबा बौखनाग के बने नए मंदिर पर पूजा अर्चना की। प्रोफेसर अर्नोल्ड डिक्स ने मीडिया से बातचीत में बताया कि ‘कल से बहुत सारा काम किया जा चुका है। यह बहुत महत्वपूर्ण है कि हम न केवल श्रमिकों को बचाएं बल्कि यह भी जरूरी है कि हम जिन श्रमिकों को बचा रहे हैं वह सुरक्षित रहे’

यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में महसूस किए गए भूकंप के झटके, घर छोड़कर भागे लोग

More in उत्तराखण्ड

Trending News