Connect with us

उत्तराखण्ड

हल्द्वानी पुलिस ने विजिलेंस कर्मी बनकर सिंचाई विभाग के प्रधान से रंगदारी मांगने वाले दो आरोपी पत्रकारों को किया गिरफ्तार

हल्द्वानी।यहाँ पर सिंचाई विभाग के प्रधान सहायक से रंगदारी मांगने के मामले में हल्द्वानी पुलिस ने तीन पत्रकारों को गिरफ्तार किया है जबकि एक महिला फरार चल रही है। जिसके बाद उन्हें जेल भेज दिया गया। उन्होंने से इन लोगों ने एक लाख की रंगदारी मांगी थी। उन्होंने की शिकायत पर मुकदमा दर्ज करने का पुलिस ने इन फर्जी पत्रकारों की तलाश शुरू की।

आज एसपी सिटी जगदीश चंद्र मामले का खुलासा करते हुए बताया कि विगत दिवससिंचाई विभाग के प्रधान कार्यालय में बाबू पर तैनात उमेश ने पुलिस को शिकायत करते हुए बताया कि गुरुवार को एक महिला सहित चार लोग उनके कार्यालय पहुंचे। सभी ने स्वयं को पुलिस की विजिलेंस शाखा का अधिकारी बताया और विजिलेंस का आईकार्ड दिखाया।

इसमें से एक आरोपी के साथ बाइक से एटीएम पहुंचे और 70 हजार रुपये निकाले। एक दोस्त से बाकी की रकम 20 हजार रुपये उधार मांगे और 10 हजार रुपये मिलाकर आरोपियों को एक लाख रुपये की रकम दी। इसके बाद सभी फरार हो गए। अधिकारी ने इसकी शिकायत पुलिस चौकी पुलिस ने मामला दर्ज करने बाद रंगदारी मांगने वालों की तलाश शुरू की जिसमें से उन्हें दबोच लिया गया।

पूछताछ में उन्होंने अपना नाम भूपेंद्र सिंह पुत्र रणधीर सिंह बाजपुर, सुंदर सिंह पुत्र हयात सिंह निवासी गुलरभोज, सौरभ गाबा पुत्र किशन लाल शांति बिहार रुद्रपुर बताया। जबकि फरार महिला का नाम साक्षी सक्सेना निवासी नोएडा शामिल है। तीनों आरोपियों के पास से 90 हजार बरामद हुए है।

पुलिस ने बताया कि इससे पहले सौरभ गाबा वर्ष 2019 में चिकित्सक के स्टिंग में एक लाख की रंगदारी मांगने में जेल जा चुका है। वही इससे पहले इन तीनों को टनकपुर में रंगदारी के मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है।

यह भी पढ़ें -  नैनीताल : कैंची मेले में किसी को अचानक बिगड़ जाए तबियत तो हेली सेवा से भेजा जाएगा हायर सेंटर

More in उत्तराखण्ड

Trending News