Connect with us

Uncategorized

होलिका दहन 2024: इस शुभ मुहूर्त पर करें होलिका दहन, जानें इसका महत्व

नई दिल्ली: होली एक सांस्कृतिक, धार्मिक और पारंपरिक पर्व है। इस त्योहार के आने का लोग बेसब्री से इंतजार करते हैं। होली से एक दिन पहले होलिका दहन किया जाता है और उसकी (होलिका दहन) विधिपूर्वक पूजा-अर्चना की जाती है। धार्मिक मान्यता है कि ऐसा करने से साधक को शुभ फलों की प्राप्ति होती है। साथ ही परिवार के सदस्य बुरी नजर से बचे रहते हैं। मान्यता है कि होलिका दहन की पूजा में विशेष चीजों को शामिल करना फलदायी होता है और पूजा सफल होती है। ऐसे में आइए जानते हैं कि होलिका दहन की पूजा थाली में किन चीजों को शामिल करना चाहिए।

होलिका दहन की पूजा सामग्री (Holika Dahan Puja Samagri)
होलिका दहन की पूजा थाली में विशेष चीजों को अवश्य शामिल करना चाहिए। होलिका दहन की पूजा के लिए नारियल, गुलाल, अक्षत, रोली, फूल, दीपक, देशी घी, गोबर से बनी गुलरी, हल्दी आदि चीजें शामिल करना चाहिए।

होलिका दहन 2024 शुभ मुहूर्त (Holika Dahan 2024 shubh muhurat)
होलिका दहन के लिए शुभ मुहूर्त 24 मार्च को देर रात 11 बजकर 13 मिनट से लेकर 12 बजकर 27 मिनट तक है। होलिका दहन का समय 1 घंटे 14 मिनट का है। भद्रा पूंछ की अवधि के दौरान भी होलिका दहन किया जाता है। इस दिन भद्रा पूंछ में होलिका दहन का समय शाम 06 बजकर 33 मिनट से लेकर 07 बजकर 53 मिनट तक है।

होलिका दहन महत्व
सनातन धर्म में होलिका दहन को बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक माना गया है। इस खास अवसर पर होलिका की विधिपूर्वक पूजा-अर्चना की जाती है और एक दुसरे को गुलाल लगाकर बधाई दी जाती है। मान्यता है कि पूर्णिमा तिथि पर होलिका दहन करने से जीवन में समृद्धि आती है और सुख-संपत्ति की प्राप्ति होती है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad
यह भी पढ़ें -  हल्द्वानी में इमोशनल चोर….. माल नहीं मिला तो छोड़ गए ये मैसेज

More in Uncategorized

Trending News