Connect with us

Uncategorized

बाबा के दरबार में शासक से सेवक बने सीएम धामी, लोगों को बांटा प्रसाद

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी नए रूप में दिखे। वह शासक नहीं, बल्कि सेवक के रूप में यहां से 14 किलोमीटर दूर सुरई रेंज के घने जंगल के बीच स्थित बाबा भारामल के मंदिर पहुंचे। मंदिर में चार दिवसीय अनुष्ठान चल रहा है। पहले दिन रामायण पाठ और बाकी तीन दिन भंडारा।

इस मंदिर के प्रति अगाध श्रद्धा के चलते सीएम ने बाबा भारामल की समाधि पर चादर चढ़ाई। प्रसाद बांटा और खुद भी ग्रहण किया। सबसे मिले, आत्मीयता से हाल पूछा। मुख्यमंत्री धामी करीब एक घंटे तक मंदिर में रहे। इस दौरान उन्हें सेवक बना देख हर कोई अभिभूत दिखा।

सीएम धामी ने बांटा प्रसाद
मंदिर की देखरेख करने वाले बाबा हरि गिरि ने सीएम को आशीर्वाद दिया। मंदिर में लोकमंगल का अनुष्ठान हुआ। इस दौरान सीएम धामी ने पूजा भी की। ध्यान लगाने के साथ-साथ उन्होंने सेवा भी की। लोगों को प्रसाद देकर सीएम धामी ने सेवा की।

पीएम के विजन को पूरा करना लक्ष्य
इस मौके पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को विकसित राष्ट्र बनाने का सपना देखा है। विकासशील राष्ट्र को विकसित बनाने के लिए जो भी जरूरतें होती हैं, उन्हें विजन के रूप में प्रधानमंत्री पूरा कर रहे हैं। इसके फलस्वरूप वर्ष 2047 में देश विकसित होकर रहेगा।

विकसित भारत संकल्प यात्रा में शामिल हुए धामी
सीएम बुधवार को लोहियाहेड पहुंचे। उन्होंने लोहियाहेड में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री मोदी के विकसित भारत संकल्प यात्रा कार्यक्रम में शिरकत की। वहीं, सीएम ने टनकपुर में विकसित भारत संकल्प यात्रा को संबोधित किया। रामलीला मैदान में समारोह में सीएम धामी ने कहा कि पहले की सरकारों ने विभागीय योजनाओं में अपने-पराए का भेद किया। असल जरूरतमंदों के बजाय अपने संबंधियों को लाभ पहुंचाया।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad
यह भी पढ़ें -  उत्तराखंड में सड़क हादसा: 35 यात्रियों से भरी सवारी बस सड़क पर पलटी, घायलों को अस्पताल में कराया भर्ती

More in Uncategorized

Trending News