जम्मू कश्मीर के DG जेल हेमंत लोहिया की निर्मम हत्या, इस संगठन ने किया हमले का दावा

ख़बर शेयर करें

जम्मू कश्मीर । सोमवार (3 अक्टूबर) देर रात राज्य के पुलिस महानिदेशक (जेल) हेमंत लोहिया की उनके निवास पर गला रेतकर हत्या कर दी गई। रिपोर्ट्स के मुताबिक, आतंकी संगठन पीएएफएफ ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। इसको लेकर एक कथित लेटर सामने आया है। पीएएफएफ आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़ा हुआ है। हालांकि, पुलिस ने अपने आधिकारिक बयान में अधिकारी के एक घरेलू सहायक पर मुख्य आरोपी होने का शक जताया है।

पुलिस ने अपने बयान में कहा है, ”डीजी जेल एचके लोहिया की मौत के मामले की प्रारंभिक जांच में यह सामने आया है कि रामबन निवासी एक घरेलू सहायक यासिर अहमद मुख्य आरोपी है। घटना स्थल से एकत्र किए गए कुछ सीसीटीवी फुटेज में संदिग्ध आरोपी को वारदात के बाद भागते हुए देखा गया है। वह पिछले करीब छह महीनों से घर में काम कर रहा था। शुरुआती जांच से पता चला कि वह अपने व्यवहार में काफी आक्रामक था और सूत्रों के मुताबिक, वह डिप्रेशन में भी था। आतंकी घटना है या नहीं? पुलिस ने यह बतायापुलिस के बयान में आगे कहा गया, ”प्रारंभिक जांच के मुताबिक, अभी तक स्पष्ट नहीं है, कि यह कोई आतंकी घटना है लेकिन जब तक जांच चल रही है, किसी भी संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है. पुलिस ने वारदात में इस्तेमाल किया गया हथियार और आरोपी की मानसिक स्थिति बताने वाले कुछ दस्तावेजी सबूत जब्त कर लिए हैं। संदिग्ध आरोपी की तस्वीरें साझा की जा रही हैं। जिस किसी को भी उसकी कोई सूचना मिले, वह फौरन पुलिस को इत्तला दे। इससे पहले वारदात को लेकर जम्मू-कश्मीर पुलिस ने अपने आधिकारिक हैंडल से ट्वीट कर जानकारी दी कि जम्मू-कश्मीर के डीजी जेल हेमंत लोहिया का शव संदिग्ध परिस्थितियों में मिला। अपराध स्थल की पहली जांच में यह संदिग्ध हत्या का मामला लग रहा है. अधिकारी के यहां काम करने वाला घरेलू सहायक फरार है. उसकी तलाश शुरू कर दी गई है। ” एक और ट्वीट में राज्य की पुलिस ने बताया, ”फॉरेंसिक टीम और अपराध शाखा दल मौके पर है. जांच की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। जम्मू-कश्मीर पुलिस परिवार अपने वरिष्ठ अधिकारी की मृत्यु पर संवेदना प्रकट करता है, और गहरा दुख जताता है।

”बताया जा रहा है कि अधिकारी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा चुका है. अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (जम्मू क्षेत्र) मुकेश सिंह ने भी कहा कि घरेलू सहायक घटना के बाद से फरार है. पुलिस ने उसकी तलाश शुरू कर दी है.इस वारदात को ऐसे वक्त अंजाम दिया गया जब जब केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह जम्मू-कश्मीर के दौरे पर हैं. उन्होंने हेमंत लोहिया मर्डर के मामले में जम्मू-कश्मीर के डीजीपी से पूरी रिपोर्ट ली है. इसके साथ ही, आरोपियों की तत्काल गिरफ्तारी के निर्देश दिए हैं।

1992 बैच के आईपीएसअतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (जम्मू क्षेत्र) ने बताया कि 1992 बैच के आईपीएस अधिकारी हेमंत लोहिया (52 साल) शहर के बाहरी इलाके में अपने उदयवाला निवास स्थान पर मृत मिले हैं। जब पुलिस की टीम सूचना के बाद मौके पर पहुंची थी तो उनका गला रेता हुआ था। वारदात स्थल को प्रथम दृष्टया देखकर लग रहा है, कि यह संदिग्ध हत्या है। फिलहाल लोहिया का नौकर फरार है। उसकी तलाश की लिए कई टीमें लगाई गईं हैं। वहीं, लोहिया के घर पर फॉरेंसिंक एवं अपराध जांच दल ने भी निरीक्षण किया. जम्मू कश्मीर पुलिस के मुताबिक, उनके कमरे से टूटी हुई बोतल मिली है.इसी साल अगस्त में मिली थी ये बड़ी जिम्मेदारीअतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (जम्मू क्षेत्र) मुकेश सिंह ने कहा कि जम्मू कश्मीर पुलिस परिवार अपने वरिष्ठ अधिकारी की मौत पर दुख प्रकट करता है। बता दें कि लोहिया को अगस्त में पुलिस महानिदेशक (जेल) बनाया गया था। वहीं, हेमंत की मौत की खबर सुनकर उनके परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल है.ऐसे हत्या को दिया गया अंजामहेमंत कुमार लोहिया नवरात्र के सिलसिले में श्रीनगर से जम्मू आए थे। उनके आधिकारिक निवास पर कुछ मरम्मत का काम चल रहा था जिसके चलते उनका पूरा परिवार राजीव खजुरिया के घर पर रुका हुआ था। रात को पूरा परिवार डिनर कर रहा था तभी ग्राउंड फ्लोर पर एक बेडरूम में हेमंत कुमार लोहिया और उनका नौकर यासिर गए। हेमंत कुमार लोहिया अक्सर रात में अपने पैरों में तेल लगाते थे। जिस बेडरूम में हेमंत कुमार लोहिया और उनके नौकर यासिर पहुंचे उसी बेडरूम का यासिर ने पहले दरवाजा बंद किया और फिर इस हत्या को अंजाम दिया। इस हत्या को अंजाम देने के बाद यासिर उसी बेडरूम के दूसरे दरवाजे से भाग निकला। जम्मू कश्मीर से लेकर दिल्ली तक अलर्ट हेमंत लोहिया की हत्या की खबर मिलते ही जम्मू-कश्मीर अलर्ट मोड पर आ गया। वहीं दिल्ली तक इसका असर दिखा और खुफिया एजेंसी अलर्ट हो गईं हैं। दरअसल, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार से अपनी तीन दिवसीय जम्मू-कश्मीर यात्रा की शुरुआत की है। ऐसे में उनके वहां होने के बाद भी इतनी बड़ी वारदात का होना कहीं न कहीं सुरक्षा पर सवाल उठाती है।

बता दें कि अमित शाह आज अपने दौरे के दूसरे दिन माता वैष्णो देवी के दर्शन करने जाएंगे। वहां मंदिर में पूजा अर्चना करने के बाद वह राजौरी में आयोजित एक जनसभा को संबोधित करेंगे और कई विकास परियोजनाओं की शुरुआत एवं शिलान्यास करेंगे।

Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.