Connect with us

उत्तराखण्ड

देर रात घोड़ा चालक और टैक्सी ड्राइवर के बीच मारपीट का मामला

रिपोर्टर भुवन ठठोला

नैनीताल। एक समुदाय के टैक्सी ड्राइवर को दूसरे समुदाय के 20 से अधिक घोड़ा संचालक और टैक्सी ड्राइवरों द्वारा घर में घुसकर पीटने के बाद सूखाताल टैक्सी यूनियन और हिंदूवादी संगठन के लोग आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर देररात तक कोतवाली में डटे रहे। पुलिस ने कार्यवाही के लिए रविवार बारह बजे तक का समय मंगा है।
शनिवार शाम नारायण नगर शटल सेवा में टैक्सी चालक मजहर और शटल सेवा कर्मी के बीच एक विवाद हुआ, जो लड़ाई में तब्दील हो गया। इसके बाद, शटल सेवा चलाने वाले और पहाड़ी टैक्सी चालक के परिवार का आरोप है कि घोड़ा और टैक्सी चलाने वाले लगभग दो दर्जन रामपुर के टांडा दढियाल के लोग उनके घर घुसे और उनके लड़के के साथ मारपीट की और धमकाया।

देर शाम सूखाताल टैक्सी यूनियन के सभी टैक्सी चालक कोतवाली पहुंचे और आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की। सूचना के बाद हिंदुवादी संगठन के लोग भी कोतवाली पहुंच गए। पुलिस को दो अलग अलग मारपीट की तहरीर दी गई।

पीड़ित टैक्सी चालक का मैडिकल कराया गया। रात पौने एक बजे सी.ओ.सिटी विभा दीक्षित और कोतवाल के आश्वासन के बाद सभी अपने घरों को गए। पुलिस से बातचीत के दौरान टैक्सी चालकों ने ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने के लिए कई सुझाव दिए और शिकायतें की।

यह भी पढ़ें -  आईटीडीए द्वारा राज्यपाल के मार्गदर्शन पर आधुनिक रियल टाइम मॉनिटरिंग चार धाम यात्रा का डैशबोर्ड किया गया तैयार

More in उत्तराखण्ड

Trending News