माँ बंगलामुखी दरबार नलखेड़ा के यज्ञाचार्य व भक्तों ने किया वरिष्ठ पत्रकार रमाकान्त पन्त को सम्मानित

ख़बर शेयर करें

पिथौरागढ़। प्रसिद्ध आध्यात्मिक विषयक लेखक एवं वरिष्ठ पत्रकार रमाकांत पंत को पत्रकारिता के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान व कार्य के लिए मध्य प्रदेश नलखेड़ा स्थित माँ बगलामुखी मन्दिर के यज्ञाचार्यो ने सम्मानित किया उन्हें यह सम्मान हाल में आयोजित 22 वें शरदोत्सव मेले हल्द्वानी में पधारे नलखेड़ा मन्दिर के सेवक एवं यज्ञाचार्यों ने दिया। पण्डित मनोज शर्मा पण्डित दिलीप शर्मा एवं कुन्दन सोनी ने पंत को नलखेड़ा माँ बंगलामुखी दरबार की मंगल पट्टिका व माँ के दरबार का सुन्दर चित्र भेंट किया।

ग्राम चिटगल, तहसील गंगोलीहाट, जिला पिथौरागढ़ में जन्मे पंत पिछले 30 वर्षों से भी अधिक समय से पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय हैं। तथा जनपद नैनीताल से मान्यता प्राप्त पत्रकार हैं इन वर्षों में उन्होंने अपनी पत्रकारिता यात्रा के दौरान विभिन्न समाचार पत्रों के माध्यम से राज्य के विभिन्न ज्वलंत मुद्दों को उजागर किया है। खासतौर से धार्मिक विषयों के लेखन में उन्होंने राज्य ही नहीं बल्कि देश में अपनी अलग पहचान बनाई है।

राज्य के भीतर गुमनामी के साए में बदहाल तीर्थ स्थलों महत्वपूर्ण तीर्थ स्थलों की महिमा को वह अपनी लेखनी के माध्यम से लगातार उजागर करते रहे हैं। राज्य की आध्यात्मिक विरासत को लेकर अब तक दो दर्जन से भी अधिक पुस्तकों का प्रकाशन कर चुके हैं जिनमें हॉट काली महिमां, पाताल भुनेश्वर महिमा, गोलज्यू महिमा, जय जागेश्वर, जय मां पीताम्बरी, जय श्री श्याम, दीप गंगा, भद्रकाली महात्मय, डमरु, ज्योतिर्लिंग केदारनाथ, सर्व स्वरुपिणी अखिलतारिणी, वीर बर्बरीक की अमर कीर्ति, काफी लोकप्रिय रही।

बीते दौर में उन्होंने क्षेत्र से सर्व प्रथम साप्ताहिक समाचार पत्र दि हिल पोस्ट का भी प्रकाशन किया और अपने अन्य साथियों को समाचार पत्र निकालने के लिए प्रेरित किया उत्तर उजाला ,दैनिक आज, बद्री विशाल ,नईदुनिया, सहित अनेको समाचार पत्रों में कार्य कर चुके।

यह भी पढ़ें -  मौसम का दूसरा हिमपात, बर्फ से ढकी पहाड़ की ऊंची चोटियां

रमाकांत पंत ने अमर उजाला, दैनिक जागरण, पंजाब केसरी ट्रिब्यून आदि अखबारों के माध्यम से भी यहां के धरोहरों को समय समय पर उजागर किया व तमाम तीर्थ स्थलों की महिमा से पाठकों को अवगत कराया सृष्टि जन कल्याण पुरस्कार प्राप्त करने वाले वे राज्य के एकमात्र पत्रकार है।श्री रमाकांत का सांस्कृतिक महोत्सव उत्सव में भी विशेष योगदान रहता है। विभिन्न अवसरों पर उनके द्वारा प्रकाशित स्मारिकायें काफी लोकप्रिय रही है ।

रमाकांत पंत ने इससे पूर्व दि संडे पोस्ट अखबार में भी सहायक राज्य प्रभारी का दायित्व निभाया है ।और वर्तमान में उत्तराखंड आज एवं लाइव टीवी से जुड़े हुए हैं। मंदिरों गुफाओं के महत्व को देश दुनिया के सामने लाने वाले पत्रकार रमाकांत पंत ने राज्य के ज्वंलत मुद्दों को भी समय-समय पर उजागर किया है । व जयंती मंगला नामक पुस्तक का भी प्रकाशन किया।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *