Connect with us

उत्तराखण्ड

सीएम के सफल प्रयासों से माँ पूर्णागिरि प्रसिद्ध मंदिर तक रोपवे का कार्य होगा प्रारंभ

रिपोर्ट – विनोद पाल

टनकपुर। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की घोषणान्तर्गत जिले में धार्मिक पर्यटन गतिविधियों को बढ़ाए जाने के उद्देश्य से प्रसिद्ध पूर्णागिरि मंदिर रोपवे का निर्माण कार्य इसी मांह से प्रारम्भ हो रहा है। रोपवे का निर्माण पीपीपी मोड में पूर्णागिरी रोपवे कस्ट्रक्शन कंपनी गुड़गाँव द्वारा किया जा रहा है, जिसकी लागत लगभग 45 करोड़ रूपये है। कंपनी द्वारा कार्य जून 2025 तक पूर्ण कर लिया जाएगा।

पूर्णागिरी रोपवे निर्माण के सम्बंध में एक महत्वपूर्ण बैठक शनिवार को तहसील कार्यालय टनकपुर में जिलाधिकारी नवनीत पाण्डेय की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। बैठक में कंस्ट्रक्शन कम्पनी से आए प्रतिनिधि नौ सेना से सेवानिवृत्त कमांडर ई. आलोक शर्मा ने अवगत कराया कि रोपवे की कुल लम्बाई 902 मीटर है जो हनुमान चट्टी से कालीमंदिर तक बनेगी, जिस हेतु दो टावर में बनाए जाएंगे जिसमें 65 यात्री क्षमता के दो केबन, एक जाने व एक आने के लिए बनाए जाऐंगे। प्रतिदिन लगभग 800 यात्री यात्रा कर सकते है।

बैठक में जिलाधिकारी ने कंपनी से आए इंजीनियर को आश्वस्त करते हुए कहा कि रोपवे निर्माण हेतु जो भी आवश्यकता प्रशासन से उन्हें है,इसमें पूर्ण मदद दी जाएगी। जिलाधिकारी ने कहा कि रोपवे का कार्य शीघ्र प्रारंभ करने के साथ ही समय पर पूर्ण कराया जाय। इस दौरान कंपनी से आए प्रतिनिधि द्वारा विभिन्न सहयोग की मांग जिसमें कार्य के दौरान बिना किसी बाधा के 24 घंटे क्षेत्र में विद्युत व्यवस्था उपलब्ध कराने,ठुलीगाड़ से हनुमान मंदिर तक डबल लेन सड़क का निर्माण किए जाने तथा पार्किंग का निर्माण किए जाने की मांग जिलाधिकारी के समक्ष रखी। जिस पर अधिशासी अभियंता विद्युत ने अवगत कराया कि पूर्णागिरि क्षेत्र में पेड़ों के गिरने से विद्युत व्यवस्था बाधित हो जारी है,जिसे सुचारू रखे जाने हेतु 22 किलोमीटर अंदर ग्राउंड केबल का प्रस्ताव विभाग को भेजा गया है,स्वीकृति प्राप्त होने पर कार्य प्रारंभ कर लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें -  चुनाव प्रबंधन समिति की बैठक आज, संभावित प्रत्याशियों के लिए नामों के पैनल पर होगा मंथन

सड़क चौड़ीकरण के संबंध में लोनिवि से आए सहायक अभियंता ने अवगत कराया कि ठुलीगाड़ से भैरव मंदिर तक डबल लेन सड़क का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है स्वीकृति प्राप्त होते ही कार्य प्रारंभ कर लिया जाएगा। इसके अतिरिक्त बैठक में विभिन्न बिंदुओं पर चर्चा की गई।

बैठक में उपजिलाधिकारी आकाश जोशी,जिला पर्यटन विकास अधिकारी अरविन्द गौड़ सहित अन्य विभागों के अधिकारी आदि उपस्थित रहे।

Continue Reading
You may also like...

More in उत्तराखण्ड

Trending News