श्रद्धा मर्डर केस में हुआ खुलासा, इस वजह से ली थी जान

ख़बर शेयर करें

दिल्ली। मर्डर केस में आरोपी अफताब ने कई सनसनीखेज खुलासे किए हैं। लिव-इन पार्टनर श्रद्धा की हत्या करने वाले आफताब अमीन पूनावाला ने पुलिस को बताया कि 2019 में एक डेटिंग ऐप के जरिए उसकी मुलाकात श्रद्धा से हुई थी।

आफताब ने बताया कि 2019 से ही वह श्रद्धा के साथ लिव इन रिलेशन में रहने लगा। बता दें कि आरोपी आफताब ने अपनी लिव इन पार्टनर की गला घोंटकर हत्या कर दी थी और फिर शव के 35 टुकड़े कर दिए थे। इसके बाद उसने शव के टुकड़ों को ठिकाने भी लगा दिया था। वारदात के छह महीने बाद पुलिस ने आफताब पूनावाला को सोमवार को दिल्ली के छतरपुर में उनके साझा फ्लैट से गिरफ्तार किया।

पूछताछ के दौरान, आफताब ने पुलिस को बताया कि उसके और श्रद्धा के रिश्ते खराब थे और अक्सर झगड़े होते रहते थे। उन्होंने कहा कि श्रद्धा उन पर शादी करने का दबाव बना रही थीं। और वे अक्सर इसे लेकर झगड़ते थे।18 मई को कहासुनी के बाद आफताब ने अपने साथी का गला दबा दिया। फिर उसने एक धारदार हथियार से उसके शरीर के टुकड़े-टुकड़े कर दिए और कटे हुए हिस्सों को स्टोर करने के लिए एक फ्रिज खरीद लिया। अगले 16 दिनों में, वह रात के अंधेरे में निकल जाता और दिल्ली के आसपास विभिन्न स्थानों पर टुकड़ों को ठिकाने लगा देता था।

श्रद्धा का गला घोंटने और उसके शरीर को काटने के बाद, आफताब ने 300 लीटर का एक रेफ्रिजरेटर खरीदा, जिसे उसने 16 दिनों में दिल्ली के जंगल में फेंक दिया था। जिस कमरे में आफताब ने वारदात को अंजाम दिया, उस कमरे में उसने खून के धब्बों को साफ करने के लिए केमिकल का यूज किया।

पुलिस ने जब फ्रिज बरामद किया तो उसमें खून का एक छींटा तक नहीं था।यही नहीं, आफताब अपने खाने पीने का सामान भी इस फ्रिज में रखने लगा था। अक्सर वो इस फ्रिज में से अपने खाने पीने का सामान इसमें से निकाला करता था। इसी फ्रिज में श्रद्धा के शव के टुकड़े भी रखे थे।

आफताब ने मर्डर करने के बाद शव की बदबू को खत्म करने के लिए रूम फ्रेशनर्स का खूब इ्स्तमाल किया। वो अक्सर अपने घर में धूप भी जलाकर रखता ताकि बदबू न आए। खून के धब्बे को साफ करने के लिए उसने ऑनलाइन मिली जानकारी का सहारा लिया।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
Ad
Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *