Connect with us

उत्तराखण्ड

चारधाम के बंद हुए कपाट, सूतक काल से पहले की गई संध्या आरती

आज साल का आखिरी चंद्रग्रहण है जिसके चलते आज चारों धाम केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम में मंदिर के कपाट शाम चार बजे बंद कर दिए गए हैं। सूतक काल से पहले ही चारों धाम में संध्या आरती की गई।

.
चंद्रग्रहण के चलते चारधाम के बंद हुए कपाट
शनिवार को चंद्रग्रहण के चलते चार धाम के कपाट बंद कर दिए गए हैं। सूतक काल से पहले शाम चार बजे केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री धाम के कपाट बंद कर दिए गए हैं। इसके साथ ही बद्रीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के सभी अधीनस्थ मंदिर भी बंद कर दिए गए हैं।

रात एक बजकर चार मिनट से लगेगा ग्रहण
आपको बता दें कि 28 अक्तूबर को रात एक बजकर चार मिनट से लगेगा। ग्रहण लगने से नौ घंटे पहले ही सूतक काल लग जाता है। सूतक काल लगने के कारण मंदिरों को बंद कर दिया गया है। रविवार को सुबह शुद्धिकरण करने के बाद ब्रह्म मुहूर्त में मंदिरों के कपाट खुलेंगे। इसके साथ ही महाभिषेक, रूद्राभिषेक सहित सभी पूजाएं संपन्न होंगी।

सूतक काल से पहले की गई संध्या आरती

.
केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमनोत्री धाम में सूतक काल लगने से पहले ही संध्या आरती कर कपाट बंद कर दिए गए हैं। चारों धामों के कपाट बंद होने के कारण श्रद्धालु अब दर्शन नहीं कर पाएंगे। रविवार सुबह कपाट खुलने के बाद ही भक्त दर्शन कर पाएंगे।

यह भी पढ़ें -  तीन दिवसीय निशुल्क चिकित्सा शिविर में सैकड़ों लोगों ने उठाया लाभ

More in उत्तराखण्ड

Trending News