Connect with us

Uncategorized

सरपंच से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री तक का सफर, आदिवासियों के बड़े नेता

छत्तीसगढ़ के नए मुख्यमंत्री विष्णु देव साय राजनीति में नया नाम नहीं है। वह छत्तीसगढ़ के एक बड़े आदिवासी नेता माने जाते हैं, साथ ही आदिवासी समुदाय में भी उनकी अच्छी पैठ भी है। उनका जन्म 21 फरवरी 1964 को जशपुर जिले के बगिया गांव में एक किसान परिवार में हुआ था। 10वीं तक की पढ़ाई कुनकुरी स्थित लोयोला हायर सेकेंडरी स्कूल से करने के बाद साय का राजनीतिक कैरियर सरपंच के तौर पर शुरू हुआ। वे बगिया गांव के निर्विरोध सरपंच चुने गए।

विष्णु देव साय ने 1990 में पहला विधानसभा चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। 1998 तक वह विधायक रहे। 1999 में उन्होंने पहला लोकसभा का चुनाव लड़ा और जीत दर्ज की। 2004 में वह दोबारा सांसद चुने गए। इसके बाद 2009 और 2014 में लोकसभा चुनाव लड़ा और संसद पहुंचे। मोदी दो सरकार के पहले कार्यकाल में उन्हें इस्पात और खनन मंत्रालय का दायित्व सौंपा गया। वह कांग्रेस सरकार में भी विभिन्न समितियों के सदस्य रहे हैं।

वर्ष 2006 में उन्हें छत्तीसगढ़ का भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया,वहीं 2011 में वह दोबारा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बनाए गए। 8 जुलाई 2023 को उन्हें भाजपा के राष्ट्रीय कार्य समिति का सदस्य बनाया गया। अब छत्तीसगढ़ के नए सीएम की घोषणा के साथ ही उनके शपथ ग्रहण की तैयारी भी शुरू हो गई है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad
यह भी पढ़ें -  Loksabha Election 2024 : क्या उत्तराखंड में चलेगा प्रियंका गांधी का जादू ?

More in Uncategorized

Trending News